वाराणसी। अंधरापुल और नदेसर का जाम झेल कर वाहन छावनी क्षेत्र में प्रवेश करते हैं तो रफ्तार अचानक बढ़ जाती है। वजह, वन वे होने के चलते विपरीत दिशा से वाहन नहीं आते हैं। कुछ ऐसे ही तेज रफ्तार से जा रही स्विफ्ट डिजायर ने शुक्रवार की दोपहर सामने से आ रही स्कूल वैन में जोरदार टक्कर मार दी। इसके बाद ड्राइवर नियंत्रण खो बैठा और बेकाबू कार बिजली के खंबे से टकरा गयी। हादसा एडीजी पीवी रामाशास्त्री के आफिस के सामने हुआ था। एडीजी खुद वहां पहुंचे और घटना की जानकारी ली। वैन में सवार आर्मी मॉन्टेन्सरी में पढ़ने वाले उत्कर्ष राय और हिमांशु सिंह को गंभीर चोटें आई जबकि अन्य बच्चो को मामूली जख्म लगे थे। एडीजी ने घायल बच्चो को अपनी स्कॉर्ट जिप्सी से छावनी अस्पताल भिजवाया जहाँ से बच्चो को उपचार के बाद छोड़ दिया गया। इस मामले में स्कुल वैन के चालक गौरव की तहरीर पर कैन्ट थाने में आईपीसी की धारा 279, 337, 338,427 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। टक्कर के बाद ड्राइवर फरार हो गया। कार कैन्ट पुलिस ने अपने कब्जे में ले ली है।

अर्दली बाजार में ‘काल’ बन कर दौड़ी कार

इसी तरह भीड़ भाड़ वाले इलाके अर्दली बाजार में अनियंत्रित तेज रफ्तार कार कइयों को रौंदने के बाद एक खंभे से टकारने के बाद रूकी। डीरेका निवासी विमलेश त्रिपाठी स्विफ्ट कार से दोपहर में परिवार लेकर अर्दली बाजार से भोजूबीर जा रहा था कि तभी पुलिस चौकी के समीप एक राजगीर मिस्त्री पन्नालाल चौहान को धक्का मारा। आगे बढ़ने पर कार सवार ने बुलेट पर खड़े राजेन्द्र मिश्रा को धक्का मारा, जब तक लोग कुछ समझ पाते उसने एक ट्राली चालक को कुचला और घसीटते हुए खम्भे से टकराकर स्वत:रुक गयी। स्थानीय लोग कार में बुरी तरह फंसे ट्राली चालक मजरूर शेख को किसी तरह से बाहर निकालने के बाद डीडीयू अस्पताल भिजवाये। कार में सवार विमलेश की मां पार्वती भी बुरी तरह जख्मी हो गयी। उनका भी इलाज अस्पताल में चल रहा। सड़क किनारे खड़ी दो बाइक भी कार की चपेट में आ गयी। कैन्ट पुलिस ने चालक को हिरासत में लेकर थाने पर भेजा। परिजनों का कहना है कि उसे कभी कभी मिर्गी के झटके महसूस होते है जिसके कारण यह हादसा हुआ।

admin

No Comments

Leave a Comment