वाराणसी। पियक्कड़ों का मनना है कि देशी शराब और अंग्रेजी के आगे टिकना मुश्किल होता है जबकि बियर का कोई असर नहीं होता। इससे उलट नजारा शनिवार की अल सुबह कुरूसातो गांव (जंसा) में देखने को मिला। यहां पर शुक्रवार की रात सेंध लगाकर व ताला तोड़कर देशी-अंग्रेजी की दुकान से चोरों ने नकदी समेत 50 हजार से अधिक का माल पार कर दिया लेकिन बियर की दुकान के आगे उनकी एक न चली। मशक्कत के बावजूद चोरों को यहां सफलता नहीं मिली तो वह उल्टे पांव लौट गये। खास यह कि हाइवे पर थाने से पांच सौ मीटर की दूरी चोरों ने वारदात को अंजाम दिया लेकिन लीपापोती में जुटी पुलिस शाम तक जांच का वास्ता देते हुए रपट दर्ज करने से कतरा रही थी।

पुलिसिंग पर उठे सवाल

बताया जाता है कि जंसा थाने से पांच सौ मीटर की दूरी पर जंसा रामेश्वर मार्ग पर अंग्रेजी, देशी व बीयर की दुकान है। शुक्रवार की रात चोर अंग्रेजी शराब की दुकान में सेंध लगाकर 8 हजार नकद व 30 हजार का शराब चुरा ले गये जबकि देशी शराब की दुकान के शटर का ताला तोड़कर एक हजार नकद समेत चार हजार की देशी शराब चुरा ले गये। इसके बाद धावा बीयर की दुकान पर था लेकिन ताला तोडने में सफल नही हो सके। शनिवार की सुबह देशी शराब के सेल्समैन आशीष जायसवाल जब मौके पर पहुचे तो चोरी होने की जानकारी हुयीे अंग्रेजी शराब के लाइसेंसी प्रदीप जायसवाल गोसाईपुर जंसा व देशी शराब की दुकान के मालिक शीतला यादव जंसा निवासी है।

admin

No Comments

Leave a Comment