एमएलसी बृजेश की पेशी पर दिखा ‘चुलबुल’ की मौत का असर, कम थी भीड़-उतरे थे चेहरे

वाराणसी। पूर्व एमएलसी उदयनाथ सिंह की मौत का असर मंगलवार को उनके छोटे भाई और एमएलसी बृजेश सिंह की पेशी पर भी देखने को मिला। पहले पूरे आसार थे कि महाशिवरात्रि के सुरक्षा इंतजाम में व्यस्त होने के चलते फोर्स अनउलब्ध होगी लेकिन नियत समय पर पुलिस पूरे प्रबंध के साथ पहुंच गयी। पुख्ता सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया लेकिन पिछली तारिखों की तुलना में इस बार भीड़ कम दिखी। बृजेश के जो करीबी आये भी थे उनके चेहरों पर शोक साफ झलक रहा था। बृजेश डेढ़ घंटे से अधिक समय तक रहे लेकिन उन्हें देखने से बड़े भाई के न रहने का एहसास साफ झलक रहा था।

कोर्ट की अनुमति मिलने पर ही हो सकेंगे शामिल

बृजेश पिछले एक दशक से न्यायिक अभिरक्षा में हैं। बड़े भाई की मौत के बाद धार्मिक कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए भी उन्हें कोर्ट की अनुमति लेनी होगी। उससे पहले मां की मौत के बाद भी वह कोर्ट के आदेश पर अहमदाबाद से लाये गये थे। मंगलवार को पेशी में भाई और भतीजे धार्मिक कार्यक्रमों में व्यस्त होने के चलते नहीं आ सके थे।

Related posts