सोनभद्र। जिला पंचायत उपचुनाव को लेकर सियासी समीकरण गड़बड़ाने लगे हैं। चुनाव में आगे दिख रही बीजेपी की गणित बागियों ने बिगाड़ दी है। जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए तीन उम्मीदवारों ने ताल ठोक दी है। इनमें बीजेपी प्रत्याशी अमरेश कुमार के अलावा विनोद कुमार मौर्या और सुभाष पाल ने भी पर्चा भर कर सनसनी फैला दी। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए जिले के ही उम्मीदवार अमरेश कुमार ने दो सेटों में, विनोद कुमार मौर्य ने एक सेट में व सुभाष पाल ने दो सेटों में अपना-अपना नामांकन पत्र दाखिल किया, जो जॉच के दौरान नामांकन-पत्र सही पाया गया।

बिगड़ सकता है बीजेपी का ‘खेल’

जिला निर्वाचन अधिकारी  प्रमोद कुमार उपाध्याय ने बताया कि जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए दाखिल किये गये नामांकन-पत्रों की वापसी 15 मार्च को उम्मीदवारों द्वारा वापस ली जा सकेगी। चुनावी मैदान में तीन उम्मीदवारों के आने से बीजेपी का खेल बिगड़ सकता है। बीजेपी में ही तीन फाड़ हो गया, भाजपा ने अमरेश पटेल को अपना जिला पंचायत अध्यक्ष का प्रत्यासी बनाया तो पार्टी के ही दो अन्य सदस्यों विनोद मौर्य और सुभाष पाल ने भी अपना-अपना दावा ठोक सनसनी मचा दी। अब कुर्सी की लड़ाई बेहद दिलचस्प हो गयी है।

सपा के अनिल यादव की गई थी कुर्सी

आप को बता दे कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद से लगातार अविश्वास प्रस्ताव का सिलसिला जारी है। सोनभद्र जिला पंचायत अध्यक्ष अनिल यादव के खिलाफ भी बीते माह पंचायत सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव लाया था। जिसके बाद सपा नेता अनिल यादव की कुर्सी चली गई थी। इस मामले में पंचायत सदस्यों का कहना था कि पंचायत अध्यक्ष सदस्यों से ताल-मेल स्थापित नहीं कर रहे थे जिस कारण अविस्वास लाया गया। बहरहाल चुनाव को लेकर 19 मार्च को वोटिंग होनी है।

admin

No Comments

Leave a Comment