गाजीपुर। देश के अलग-अलग हिस्सों में मूर्ति तोड़ने को लेकर सियासत जारी है। सियासत की चिंगारी से अब गाजीपुर भी सुलगने लगा है। ताजा मामला जुड़ा है मोहम्मदाबाद से विधायक अलका राय से। त्रिपुरा में भाजपा की जीत और मूर्ति तोड़े जाने के बाद हुए हंगामे के बीच अलका राय ने एक विवादित बयान दिया है। अलका राय के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी ने त्रिपुरा में जीत हासिल की है। अब विरोधी सरकार को बदनाम करने के लिए इस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। हमारी सरकार किसी की भी मूर्ति तोड़ने के पक्षधर नहीं है। हमारे देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री इस तरह का कृत्य कार्यकर्ता और नेताओं को नहीं करने देते हैं, चाहे वह अंबेडकर की प्रतिमा हो या लोहिया की मूर्ति हो।

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओं अभियान की तारीफ की

भाजपा विधायक अलका राय क्षेत्र के शेरपुर गांव में आयोजित समाज सेवी स्वर्गीय अनिल उर्फ काका की 11 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने पहुंची थी। इस दौरान उन्होंने महिला सशक्तिकरण पर कहा कि हमारी सरकार बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ, महिलाओं की सुरक्षा आदि महिलाओं के उत्थान को समर्पित तमाम योजनाएं चला रही है। पिछली सरकारों में हो रहे महिला उत्पीड़न के मामलों में लगाम लगी है। पूरे देश में महिलाओं के उत्पीड़न के मामलों में केंद्र सरकार ने कंट्रोल करके दिखाया है। कार्यक्रम में युवा नेता राजेश राय बागी, भाजपा पूर्व जिला अध्यक्ष विजय शंकर राय, दिनेश राय समेत भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। यह कार्यक्रम किसान इंटर कॉलेज में सम्पन्न हुआ, जिसमें वक्ताओं ने कहा कि काका का व्यक्तित्व बड़ा साफ-सुथरा था। वह दूसरों के लिए जीते और मरते थे। कहा कि काका गरीब और कमजोरों के लिए जीवनपर्यंत संघर्ष करते रहे। कार्यक्रम के दौरान मौजूद लोगों ने समाजसेवी अनिल उर्फ काका को श्रद्धांजलि अर्पित की।

admin

No Comments

Leave a Comment