वाराणसी। साबरकंठा (गुजरात) में मासूम के साथ दुष्कर्म के बाद वहां पर उत्तर भारतीयों के संग हिंसा की कई वारदातें हुई हैं। बड़ी संख्या में लोगों के पलायन को देखते हुए वहां की सरकार ने हालात को नियंत्रित करने के क्रम में सख्त एक्शन लेना शुरू किया है। इस बीच वहां की मीडिया के साथ सोशल मीडिया पर अफवाहों का दौर आरम्भ हो चुका है। सुनियोजित ढंग से प्रचारित किया जा रहा है कि काशी में रहने वाले गुजरातियों को डराया-धमकाया जा रहा है। अफवाहों पर लगाम लगाने के लिए डीएम सुरेन्द्र सिंह और एसएसपी आनंद कुलकर्णी को साझा बयान जारी करना पड़ा।

किसी ने नहीं की है शिकायत

कलेक्टर-कप्तान का कहना है कि गुजरात में फैलायी जा रही अफवाह पूरी तरह से निराधार है। जनपद में किसी व्यक्ति ने इस तरह की शिकायत नहीं की है। अलबत्ता श्रीकाशी गुजराती समाज वाराणसी के अध्यक्ष अनिल भाई शास्त्री ने भी बताया है कि वाराणसी में रहने वाले किसी गुजराती के संग कोई घटना नहीं हुई है। गुजरात के अखबारों और सोशल मीडिया पर जो खबर वायरल हुई है वह महज अफवाह है और उस पर ध्यान न दिया जाये।

admin

No Comments

Leave a Comment