बलिया। अजोरपुर गांव (नरही) में माया शंकर यादव की पत्नी अभीता देवी (32) की संदिग्ध हालात में मौत का मामला तूल पकड़ रहा है। अभीता के भाई भीम ने न सिर्फ अपनी बहन की हत्या का आरोप लगाया है, बल्कि अपनी भांजी की भी हत्या की आशंका जाहिर की है। आरोपों की गंभीरता और विवाह के पांच साल में ही अस्वाभाविक मौत को देखते हुए पुलिस ने इस मामले में दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पंचनामा कर पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पांच साल पहल ेही हुआ था विवाह

मोहम्मदाबाद (गाजीपुर) के बहादुरपुर सरनाम का पूरा निवासी स्व. मुखराम यादव ने अपनी पुत्री अभीता की शादी 5 साल पहले अजोरपुर गांव निवासी स्व. राज नारायण यादव के पुत्र मायाशंकर यादव के साथ की थी। अभीता के भाई भीम यादव का आरोप है कि शादी के बाद से ही मेरी बहन को माया शंकर मारता-पीटता था। साथ ही मायके से रुपए और सामान लाने का दबाव डालता था। इसी बीच विवाहिता की एक लड़की भी पैदा हुई। भीम का कहना है कि 2 जुलाई को माया शंकर के गांव से एक व्यक्ति ने बताया कि आपकी बहन बीमार है। इलाज के लिए बलिया जा रही है, आ जाइये। इसके बाद भीम अपनी बहन से बात करने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। मंगलवार की सुबह भीम को सूचना मिली कि आपकी बहन दुनिया में नहीं है।

admin

No Comments

Leave a Comment