मीरजापुर। नान्हूपुर (पड़री) में मंगलवार की सुबह खेत में 10 वर्षीय बालक का कटा सिर मिलने से सनसनी फल गयी। तलाश के बावजूद कहीं धड़ नहीं मिला और सिर को भी जमीन में गाडने की कोशिश की गयी थी। ग्रामीणों की सूचना पर पहुंची पड़री पुलिस ने सुराग की तलाश के लिए डॉग स्क्वाएड, फारेंसिंक टीम और क्राइम ब्रांच को भी बुला लिया। पुलिस ने भी बच्चे के धड़ की काफी खोजबीन की पर नहीं मिल सका। बालक का सिर्फ सिर मिलने पर तंत्र-मंत्र, जमीनी विवाद के लिए भूत-प्रेत व बलि दिए जाने आदि तरह-तरह की चर्चाए इलाके में व्याप्त रही। बच्चे के कटे सिर को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। सीओ सदर बृजेश त्रिपाठी ने कहा कि सभी पहलुओं की बारीकी से जांच की जा रही है। आस-पास के बच्चों के लापता होने के बारे में पड़ताल कराई जा रही है, ताकि शिनाख्त हो सके। किसी बच्चे के लापता होने का मामला आएगा तो डीएनए टेस्ट करायी जाएगी।

नींव में पड़ा था सिर

गांव के रहने वाले कृष्ण कुमार दुबे का कच्चा मकान है जिसके पीछे मड़हा है। उसके पीछे उन्होने दो कमरे का पक्का आवास बनाने के लिए नींव डाली है जिसमें धनिया बोया है। कृष्ण कुमार सोमवार को परिवार के साथ शादी में शामिल होने गये थे। मंगलवार की भोर में वह परिवार के साथ शादी से लौटा तो सुबह उसकी पत्नी चंद्रिका देवी नींव में कुत्तों के आपस में लड़ने की आवाज सुनाई दी। चंद्रिका वहां पहुंची तो एक बालक का कटा सिर देखकर सहम गई। उसने अपने पति को जानकारी दे दी। कुछ ही देर में यह इसकी सूचना क्षेत्र में फैल गयी।

नवरात्र में बलि की होती रही चर्चा

विख्यात विंध्यवासिनी धाम होने के नाते पहले भी जनपद में कई बार तंत्र-मंत्र में बालको के बलि देने का मामला आया है। ऐसे में बालक का कटा सिर मिलने पर आशंका जताई जा रही है कि कहीं किसी ने बालक की बलि देकर सिर को कृष्ण कुमार दुबे के नींव में तो नहीं छिपा दिया था। बलि में सिर को ही धड़ से अलग किया जाता है। बालक के धड़ का न मिलना भी एक बड़ा सवाल है।

admin

No Comments

Leave a Comment