वाराणसी। अमूमन तहसील दिवस पर अधिकांश मामले राजस्व संबंधी विवाद को लेकर रहते हैं। आला अधिकारी इस पर मौका मुआयना कर कार्रवाई के निर्देश देते हैं। मंगलवार को राजातालाब तहसील में डीएम योगेश्वर राम मिश्र और एसएसपी आरके भारद्वाज के सामने कुछ अलग तरह का मामला आया। प्रार्थनापत्र देने वाली ने खुद को ब्यूटी पार्लर संचालिका बताया और आरोप छेड़खानी से लेकर बंधक बनाना,मारपीट और दुष्कर्म की धमकी देने तक के थे। आरोप लगाने वाली उम्रदराज होने के संग बेटी-दामाद वाली है जबकि जिसके उपर आरोप लगाये थे उसकी बेटी के विवाह में वह जाने की बात कह रही थी। बहरहाल आरोपों की गंभीरता देखते हुए डीएम ने रपट दर्ज कर विवेचना के आदेश दे दिये हैं।

पांच दिन पुराना बताया प्रकरण
प्रार्थनापत्र के मुताबिक पीड़िता घोसिला गांव (कपसेठी) 27 अप्रैल को गौरी शंकर सिंह के यहां वधू को सजाने गयी थी। वधू को सजाने के बाद जब वह जयमाल से वापस आयी तो घर जाने वास्ता देकर भुगतान की मांग की। आरोप है कि इतना सुनते ही वधू पक्ष के लोग आग बबूला हो गए और भद्दी-भद्दी गाली देने लगे। दुल्हन का झुमका गायब होने के बहाने मेरी तलाशी लिए और रात भर बंधक बनाकर छेड़खानी और पिटाई भी की। धमकी दी कि तुम्हारा बलात्कार करके बिहार ले जाकर जंगल मे फेक देंगे। सुबह छह बजे हम लोगो को किसी तरह मुक्ति मिली लेकिन मंगलवार को पुन: दामाद को धमका रहे थे कि वही झुमका चुराई है। झुमका वापस न करने पर अंजाम बुरा होगा।

admin

No Comments

Leave a Comment