वाराणसी। पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में खनन के नाम पर गोरखधंधा जारी है। वह भी खुलेआम। कानून को ठेंगे पर रखकर गंगा में खनन कराया जा रहा है। खनन माफियाओं को ना तो स्थानीय प्रशासन का खौफ है और ना ही पुलिस का। खनन का ये खेल जारी है चौबेपुर के रामचंद्रीपुर गांव में। आरोप है कि यहां पर जेसीबी मशीन से बालू खनन हो रहा है। यही नहीं तय मानक से ज्यादे लोडिंग हो रही है।

खनन माफिया दे रहे हैं किसानों को धमकी

ग्रामीणों के मुताबिक गंगा नदी में जेसीबी मशीन से बालू का खनन करने की अनुमति नहीं होते हुए भी 12 से 14 मशीन लगा कर खनन किया जा रहा है। ट्रैक्टर पर 200 घन फिट बालू लोड किया जाता है, जबकि परमिट पर सिर्फ 100 घन फिट बालू दिखाया जा रहा है। इसी प्रकार ट्रक व डम्फर पर 1000 से 1200 घन फिट बालू लोडिंग होती है, जबकि परमिट पर 500 से 600 घन फिट बालू दिखाया जा रहा है। यही नहीं खनन पट्टाधारक व उनके साथियों के द्वारा दबंगई से कुछ किसानों की निजी भूमि में रास्ता बनवा दिया गया है। किसानों के विरोध करने उन्हें धमकी दी जाती है। इस बाबत कई बार स्थानीय पुलिस से शिकायत की जा चूकी है लेकिन अभी तक कार्रवाई नहीं हुई।

admin

No Comments

Leave a Comment