गाजीपुर। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के कथित गुर्गे के संग गलबहियां करना नोनहरा एसओ केपी सिंह को भारी पड़ गया। इस मुद्दे को लेकर मोहम्मदाबाद की भाजपा विधायक अलका राय अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठ गयी थी। मामला तूल पकड़ने पर डीएम के बालाजी और एसपी सोमेन वर्मा मौके पर पहुंच गए। विधायक के आरोपों की गंभीरता को देखते हुए एसपी ने पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश सीओ मुहम्मदाबाद अनिल राय को दिया था। सीओ की रिपोर्ट आने के बाद बाद चुनाव आयोग से अनुमति लेकर एसओ को निलंबित कर दिया गया है। एसपी ने स्वीकार किया कि राज्य निर्वाचन आयोग के अनुमति देने के बाद एसओ केपी सिंह को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही नोनहरा थाने का प्रभार एसओ श्याम बाबू को सौंप दिया।
क्षेत्र भ्रमण के दौरान का था समूचा घटनाक्रम
मुहम्मदाबाद विधायक 5 नवंबर को अपने विधानसभा क्षेत्र का भ्रमण कर एक कार्यक्रम में शामिल होने लौवाडीह जा रही थीं। कठवा मोड़ पुलिस चौकी (नोनहरा) के पास उनकी नजर पुलिस चौकी के बाहर खड़े करीमुद्दीनपुर थाने के हिस्ट्रीशीटर अमित राय के साथ बात कर रहे थानाध्यक्ष केपी सिंह पर पड़ी। यह देख विधायक गाड़ी रुकवाकर पुलिस चौकी के तरफ चल दी। आरोप है कि विधायक को आता देख थानाध्यक्ष ने शातिर अपराधी को भगा दिया और उनके कहने पर भी पकड़ने का प्रयास नहीं किया। इससे नाराज विधायक थानाध्यक्ष को निलंबित करने के साथ गिरफ्तार करने की मांग को लेकर पुलिस चौकी पर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गईं। कलेक्टर-कप्तान मौके पर पहुंचे लेकिन आरोपित ने सोशल मीडिया पर विधायक को धमकी दे दी। इसके बाद एसओ का निलंबन किया गया।

admin

No Comments

Leave a Comment