सरकारी जमीन पर कब्जा करने वालों के खिलाफ हो ऐसी कार्रवाई कि दूसरों को ‘नानी’ याद आये, राजस्वकर्मियों को सुनायी खरी-खरी

वाराणसी। उभ्भा (सोनभद्र) में हुई घटना के बाद शासन के तेवर भांप कर जमीन के मामलों में सभी अलर्ट मोड में हैं। इसकी बानगी शनिवार को कैंट और चौबेपुर थाने में डीएम सुरेन्द्र सिंह की एसएसपी आनंद कुलकर्णी के साथ थाना दिवस पर जन सुनवाई में दिखी। जनसुनवाई के दौरान डीएम ने सभी लेखपाल और कानूनगो को निर्देशित किया कि सरकारी जमीनों पर कब्जा करने वालोें के खिलाफ ऐसी कड़ी कार्रवाई करें कि आगे कोई अवैध कब्जा करने की हिम्मत न कर सके। उन्होंने राजस्व कर्मियों से कहा कि ऐसे जमीनी विवाद जिसे आप के द्वारा हल किया जा सकता था और नहीं किया गया, कोई घटना हो गयी तो सम्बंधित राजस्व कर्मियों के खिलाफ एफआईआर होगी और जेल जायेंगे। उन्होंने कहा कि कहीं कार्यवाही करने में कोई दिक्कत आती है तो प्रशासन हर तरह से मदद करेगा।

संंयुक्त कार्रवाई पर दिया जोर

डीएम ने सरकारी जमीनों से कब्जे हटाने के लिए राजस्व विकास और पुलिस विभाग संयुक्त रूप से कार्यवाही करने का निर्देश दिया। एसओ चौबेपुर को निर्देश दिए कि दबंगई और गुंडागर्दी से जमीन कब्जा करने वालों को उठाकर जेल में डालने की कार्रवाई करें जिससे लोगों को सबक मिले। बराई ग्राम के लेखपाल को निर्देश दिया कि फरियादी के रास्ते पर ईटें लगा कर रास्ता रोकने वाले के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए जेल में डालें। मिसिरपुर में नरेगा से चकरोड का निर्माण कराने के बाद तीन बार तोड़े जाने पर गहरी नाराजगी जताई और तोड़ने वाले श्यामजी मिश्र,रामजी मिश्र और विनोद मिश्र के खिलाफ गुडई व सरकारी धन के दुरुपयोग के आरोप में एफआईआर दर्ज करा कर जेल में डालें। नेवादा के चौथी के जमीन की तीन बार पैमाईश के बाद ग्राम बहनपुरा निवासी गोपाल सिंह व त्रिभुवन सिंह द्वारा निर्माण तोड़ दिये जाने की शिकायत पर आज ही गिरफ्तारी के आदेश दिए। ढ़कवा गांव में एक महिला द्वारा बंजर जमीन पर कब्जा,नाली व रास्ते पर कब्जा करने की जानकारी पर महिला पुलिस को निर्देश दिया कि उसे जेल में बंद करें। लेखपाल परनापुर बिंदू देवी को कार्य से सम्बंधित जानकारी न होने पर कठोर चेतावनी जारी करने का निर्देश।

जालान पर लगाया जुर्माना

इसी तरह तरैयां, नारायनपुर,मढ़नी, मिल्कोपुर,रमचन्दीपुर,पहड़िया, रसूलपुर आदि ग्राम पंचायतों के आये फरियादियों की समस्यायें सुनी और कठोर कार्रवाई करते हुए सही व्यक्ति को न्याय दिलायें। कैंट थाने पर जन सुनवाई के दौरान फरियादियों की शिकायत सुनी और समाधान दिवस के प्राप्त शिकायतों के निस्तारण चेक किया। थाने के बाहर सब्जी विक्रेता द्वारा पालीथीन रखने पर दो तथा जालान कचहरी पर सड़क के किनारे दुकान का कूड़ा जलाने पर पांच हजार रुपए का जुर्माना लगाया।

Related posts