कदाचार’ की शिकायतों पर कप्तानों का ‘प्रहार’, टीएसआई और स्टोनों के निलंबन के संग शुरू करायी जांच

वाराणसी। जिले के प्रभारी कप्तान तेज-तर्रार के साथ इमानदार हैं लेकिन अधीनस्थ उनकी ‘नाक’ के नीचे ‘कदाचार’ से बाज नहीं आ रहे हैं। ऐसी शिकायतों को सोशल मीडिया पर वायरल होता देख एसएसपी वाराणसी प्रभाकर चौधरी और एसपी मऊ अनुराग आर्य ने सख्त रुख अख्तियार किया है। एसएसपी ने जहां टीएसआई चन्द्रभान प्रसाद को निलंबित करते हुए जांच शुरू करायी है वहीं एलपी ने सीओ के स्टोनो को निलंबित किया है।

वसूली का वीडियो हुआ था वायरल

सोशल मीडिया पर दो दिनों से वायरल हो रहे वीडियो जिसमें टीएसआई चन्द्रभान प्रसाद द्वारा अवैध रुप से किसी व्यक्ति द्वारा पैसे लेने का आरोप लगाया जा रहा है, को संज्ञान में लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी द्वारा तत्काल प्रभाव से उक्त उप निरीक्षक यातायात को निलम्बित कर दिया गया है तथा वायरल वीडियो की जाच करायी जा रही है।

एसी लगवाने को थी 50 हजार की डिमांड

उधर एसपी मऊ ने दिनेश कुमार आशुलिपिक(स्टेनो) सीओ मधुबन को तत्काल प्रभाव से निलम्बित किया है। गौरतलब है कि उक्त आशुलिपिक ने रणजीत सिंह निवासी अईलख (हलधरपुर) और विपक्षी जगजीवन राम के बीच रास्ते का विवाद में डिमंड की थी। जिसके सम्बन्ध में एक दूसरे के प्रार्थना पत्रों की जांच सीओ मधुबन द्वारा की जा रही थी। उक्त आशुलिपिक द्वारा प्रकरण को शांत कराये जाने एवं सीओ मधुबन कार्यालय में एसी लगाये जाने के नाम पर 50 हजार रुपए की मांग की गई थी।

Related posts