वाराणसी। जंसा इलाके का एक मामला पुलिस के गले की फांस बन गया है। इसमें दोनों पक्ष पेशबंदी में नित नये पैंतरे अपना रहे हैं। छेड़खानी के कथित आरोपों के चलते पिटाई के बाद शुरू हुए इस मामले में क्रास एफआईआर दर्ज हो चुकी है लेकिन दोनों पक्ष खुद को सही और दूसरे को गलत करार दे रहे हैं। इसी क्रम अपना दल के प्रदेश महासचिव सुनील सिंह पर जंसा थाने में दर्ज किए गए फर्जी मुकदमें के खिलाफ गुरुवार की दोपहर 12 बजे अपना दल के पदाधिकारियों का एक प्रतिनिधिमंडल एसएसपी आरके भारद्वाज से मिला। अद नेताओं ने तत्काल फर्जी मुकदमा वापसी और गलत मुकदमा दर्ज कराने वालों पर कार्यवाही की मांग की। एसएसपी ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

पेशबंदी के तहत मुकदमा दर्ज कराने का आरोप

प्रतिनिधि मंडल का नेतृत्व कर रहे जिलाध्यक्ष राजेश पटेल ने कहा कि स्थानीय प्रशासन के कार्यशैली से अपराधियों का मनोबल बढ़ा हैं, आपराधिक कृत्य करने के बाद पेशबंदी के तहत मुकदमा दर्ज कराकर असली दोषियों को बचाने की कोशिश की जा रहा है, जिसका पुरजोर विरोध किया जायेगा, यदि तत्काल न्याययोचित कार्यवाही नहीं होती तो प्रदेशव्यापी आन्दोलन किया जायेगा। प्रतिनिधिमंडल में प्रमुख रूप से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष अनिल पटेल, गगन प्रकाश यादव, पंकज सेठ, राजनाथ राजभर, दिलीप सिंह पटेल, बलराम पटेल(पूर्व जिला पंचायत सदस्य), दुर्गा वर्मा, राजा हाशमी, विजय दूबे, पवन दूबे, भइया लाल आदि लोग शामिल रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment