गोरखपुर। कानून-व्यवस्था को लेकर सरकार जो भी दावे करे लेकिन जेल में निरुद्ध माफिया ही नहीं बल्कि उनके गुर्गे भी समानांतर सरकार चला रहे हैं। व्यापारियों से रंगदारी की वसूली जारी है और न देने पर धमकाने के लिए फायरिंग ही नहीं बल्कि हत्या तक की योजना तैयार की जा रही है। यह चौंकाने वाला खुलासा एसटीएफ ने मुन्ना बंजरंगी के लेफ्टीनेंट माने जाने वाले अमन सिंह के दो शार्प शूटरों की गिरफ्तारी के बाद किया है। गिरफ्तार बदमाश संदीप यादव और हन्सराज उर्फ छोटू 30- 30 हजार इनामिया है। दोनों गोरखपुर जेल मे किसी माफिया से मिलने गये थे लेकिन सटीक सूचना पर खोराबार थाना क्षेत्र से एसटीएफ ने हल्की मुठभेड के दौरान धर दबोचा। दोनों के पास से असलहे, लूट की बाइक और मोबाइल बरामद हुए हैं।

डिप्टी मेयर हत्याकांड का आरोपित है अमन

पूछताछ में दोनों बदमाशों ने कबूल किया कि उनके सरगना अमन सिंह ने ही पिछले साल धनबाद (झारखंड) के बहुचर्चित डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड को अंजाम दिया था। उन दिनों धनबाद जेल में बंद कुख्यात अमन सिंह अपने गुर्गो के जरिए रंगदारी मांग रहा है। रंगदारी न देने पर आतंकित करने की खातिर आजमगढ़ में फैशन हट के मालिक पर बदमाशों ने गोली चलाई थी। जानलेवा हमले में कपड़ा व्यवसाई नीरज जायसवाल बाल-बाल बचे थे। वारदात एक माह बाद भी आजमगढ़ पुलिस गिरफ्तारी नहीं कर रही थी। एसटीएफ गोरखपुर ने यह भी खुलासा किया है कि सिंह ट्रेवेल्स के मालिक ज्ञानू सिंह पर हमले के फिराक में थे शातिर शूटर। बदमाशों के मोबाइल से गैैंग से जुड़े ‘मैनेजरों’ के बारे में भी अहम सुराग मिले हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment