समाधान दिवस का हाल: थाना प्रभारी के सामने गंदी गालियां देते हुए थप्पड़ मारने लगा लेखपाल

आजमगढ़। जन समस्याओं के मौके पर निस्तारण खातिर चलाये जा रहे समाधान दिवस में फरियादी के साथ कैसा सलूक होता है इसका मंजर शनिवार को सरायमीर थाने में देखने को मिला। निजामाबाद तहसील स्थित फत्तनपुर गांव के लेखपाल सुभाष गुप्ता ने नापी के लिए प्रार्थनापत्र देने वाले से पांच हजार रुपये मांगे थे। पीड़ित ने इसकी शिकायत थाना प्रभारी सरायमीर शेर सिंह तोमर से की। इंस्पेक्टर अभी लेखपाल से पूछताछ कर ही रहे थे कि उसने पीड़ित पक्ष को थाना परिसर में ही गंदी गालियां देते हुए थप्पड़ की बौछार कर दी। घटनाक्रम के चलते कुछ देर के लिए वहां अफरा-तफरी मच गयी। किसी तरह दोनों को अलग कराया गया लेकिन सोशल मीडिया पर पिटाई का वीडियो वायरल होने लगा है।

एसडीएम ने दिया था नापी का आदेश

गौरतलब है कि 5 अक्टूबर को हुए थाना दिवस पर एसडीएम निजामाबाद प्रियंका प्रियदर्शिनी ने बेचन सेठ के प्रार्थनापत्र पर लेखपाल को भूमि की नापी के लिए आदेश दिया था। बेचन का कहना था कि गांक के एक व्यक्ति ने उसकी जमीन पर अवैध रूप से दरवाजा खोल रखा है। इस पर एसडीएम ने नापी कर प्रकरण को खत्म करने का निर्देश दिया था। एक पखवारा बीतने पर भी अनुपालन नहीं हुआ तो बेचन फिर समाधान दिवस पर प्रार्थनापत्र लेकर थाने पहुंचा था जहां नौबत मारपीट की आ गयी।

लेखपाल ने दी कुछ यह सफाई

आरोपों के दायरे में आने वाले लेखपाल सुभाषचंद्र गुप्ता ने नियमों का हवाला देते हुए सफाई दी है। उसका कहना है कि मुझ पर पिछले काफी समय से फत्तनपुर गांव के बेचन, शरद आदि लोग िजबरदस्ती आबादी श्रेणी 6(2)की भूमि नापने के लिए दबाव बना रहे हैं। आबादी की भूमि की नापी मेरे क्षेत्राधिकार से बाहर है और यह बता भी दिया है। यही कारण है मैं मानसिक रूप से परेशान हो गया हूं।

Related posts