वाराणसी। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी में क्रियान्वित बड़े-बड़े महत्वपूर्ण विकास कार्यों के प्रोजेक्ट की प्रगति की समीक्षा में कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने इनकी धीमी गति पर गहरी नाराजगी जताई। कमिश्नर ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि ठेकेदारों व फर्मों द्वारा प्रोजेक्ट पूर्ण करने का समय सीमा बताने के बाद भी यदि वह इसमें कार्य नहीं कर पाते हैं तो उनके अवशेष पेमेंट जब्त किए जाने की कार्रवाई की जाए। जो ठेकेदार/फर्म काम नहीं कर पा रही है, उन्हें आर्थिक दंड देते हुए कार्य से बाहर किया जाए और दूसरे सक्रिय फर्मों से कार्य पूरा कराया जाए। कमिश्नर ने बड़े साफ व कड़े लहजे में कहा कि ज्यादा विलंब स्वीकार नहीं होगा। विभाग कड़े कदम उठाए और कार्यो को प्रत्येक दशा में पूर्ण कराएं। विलंब का खामियाजा ठेकेदार व फर्म को जरूर दिया जाए। दीनापुर एसटीपी, शाही नाला की सफाई कार्य में हुए विलंब असहनीय हो रहे। विभाग संबंधित ठेकेदारों/फर्मो पर आर्थिक दंड की कार्यवाही करें। कमिश्नर ने कहा कि इंटीग्रेटेड कंट्रोल सिस्टम में अंडर ग्राउंड किए गए कार्यों यथा-जलापूर्ति के पाइप, गैस लाइन, बीएसएनएल की लाइनें,सीवर,विधुत लाइन आदि सभी के एलानमेन्ट की मैपिंग कर रखी जाए। ताकि आगे किसी नए कार्य के लिए जानकारी हो, कि किस क्षेत्र में, किस रोड के नीचे, किस गली में अंडर ग्राउंड क्या-क्या, किस-किस दूरी पर पाइप लाइन पड़ा। उसी के अनुरूप आगे मरम्मत व नए कार्य करने में सुविधा होगी।

सीवर लाइन के लिए सर्वे का आदेश

पीडब्ल्यूडी के मुख्य अभियंता द्वारा यह बात उठाने पर कि हरहुआ से शिवपुर क्रॉसिंग के बीच अंडर ग्राउंड विद्युत लाइन मानक से कम गहराई पर पड़ी है जो सड़क मरम्मत आदि में अवरोध पैदा करती है। इस पर कमिश्नर ने उस क्षेत्र की जांच करा कर इस्टीमेट से मिलान कराने के निर्देश दिए। नगर निगम द्वारा सीवर लाइन से घरों के कनेक्शन करने के दौरान कहीं-कहीं सीवर लाइन नहीं होने की बात कही जिस पर कमिश्नर ने बेहद आश्चर्य व्यक्त करते हुए सीवर लाइन का सर्वे कराने के निर्देश दिए और यह भी चेताया कि यदि कहीं भी सीवर लाइन नहीं होना पाया गया तो इस पर कठोर कार्यवाही होगी। पीडब्ल्यूडी द्वारा शहर में सड़क निर्माण कार्य शुरू हो जाने की रिपोर्ट पर कमिश्नर ने इसी सप्ताह के अंत तक आकस्मिक रूप से निरीक्षण करने को कहा तथा 50 शैया के पंडित दीनदयाल उपाध्याय मेटरनिटी हॉस्पिटल विंग के निर्माण कार्य की भी कमिश्नर निरीक्षण करेंगे।

विभाग समन्वय बना कर दूसरों को भी दे अहमियत

बैठक में स्मार्ट सिटी के कार्यों, पराग डेयरी संयंत्र स्थापना, घरों में रसोई गैस कनेक्शन, सीएनजी पंप स्टेशनो की स्थापना, रिंग रोड, बाबतपुर-कचहरी मार्ग, वाराणसी-गाजीपुर मार्ग एवं वरुणा कॉरिडोर आदि कार्यों की प्रगति की विस्तार से समीक्षा की गई। कमिश्नर ने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि विभिन्न विभाग समन्वय से कार्य करें। एक-दूसरे के कार्यों को अहमियत दे। बिजली, पानी, सीवर, सड़क, संचार व्यवस्था सभी आम लोगों के लिए उपयोगी है। यदि कहीं खुदाई या कटान की जरूरत हो तो संबंधित से अनुमति ले तथा उसी रूप में मरम्मत कर दे। बैठक में डीएम सुरेंद्र सिंह, सीडीओ गौरांग राठी सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

admin

No Comments

Leave a Comment