वाराणसी। बहुचर्चित सिकरारा कांड मुकदमे में मंगलवार को अभियोजन पक्ष के गवाह डा. सीबी त्रिपाठी का बयान दर्ज हुआ। विशेष न्यायाधीश (गैंगस्टर एक्ट) राजीव कमल पाण्डेय की अदालत में चल रहे इस मामले में चिकित्सक का बयान दर्ज होने के बाद बचाव पक्ष के अधिवक्ता द्वारा जिरह की कार्रवाई की गई। बीएचयू मेडिकल कॉलेज में फोरेंसिक विभाग के पूर्व अध्यक्ष रहे डा. सीबी त्रिपाठी ने मृतक रामचंद्र यादव और उसके भाई रामजनम यादव समेत सात लोगों का पोस्टमार्टम कर उसका रिपोर्ट तैयार किया था। बचाव पक्ष ने जिरह के दौरान शरीर पर लगी चोटों और पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा गवाहों के बयान में भिन्नता को लेकर सवाल उठाये। इन सुलगते सवालों को लेकर डाक्टर जवाब नहीं दे पा रहे थे।

11 जुलाई को होगी अगली सुनवाई

अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 11 जुलाई की तिथि नियत करते हुए गवाही के लिए अभियोजन पक्ष के गवाह रिटायर्ड दारोगा अमरेंद्र बाजपेई को तलब किया है। इसके पूर्व भी न आने के कारण अदालत ने दरोगा के खिलाफ वारंट जारी कर रखा है। आरोपी एमएलसी बृजेश सिंह को पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में शिवपुर सेंट्रल जेल से लाकर अदालत में पेश किया गया था। अदालत की कार्यवाही पूरी होने पर एमएलसी बृजेश सिंह को लेकर पुलिस सेंट्रल जेल लौट गई।

admin

No Comments

Leave a Comment