वाराणसी। चर्चित सिकरौरा कांड में अपर जिला जज (तृतीय) राजीव कमल पाण्डेय की अदालत ने वादिनी व गवाह हिरावती देवी के शुक्रवार को भी अदालत में पेश न होने पर कड़ा रुख अपनाया है। अदालत ने इस मामले में चंदौली एसपी को आदेश दिया कि वह सुनवाई के लिए नियत 27 फरवरी को हर हाल में अदालत में पेश करे। इसके साथ अदालत ने इस मामले को लेकर सोशल मीडिया में वायरल हो रहे एक वीडियो की सत्यता की जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश वाराणसी के एसएसपी को दिया। अदालत ने इस आदेश की एक प्रति चंदौली एसपी को भी देने का आदेश दिया है।

परस्पर विरोधी रिपोर्ट से फंसा पेंच

इसके पूर्व अदालत में सुनवाई के दौरान वादिनी व गवाह हिरावती देवी के स्वास्थ्य संबंधी रिपोर्ट चिकित्सक द्वारा पेश की गई। निजी चिकित्सक ने जहां मानसिक स्थिति ठीक न बताते हुए कोर्ट में उपस्थित होने के लिए समय देने की मांग की वहीं मेडिकल बोर्ड की रिपोर्ट में जिसमे वादिनी को कोर्ट में उपस्थित होने के लिए शारीरिक व मानसिक रूप से पूर्ण रूप से सक्षम बताया गया। दूसरी ओर इस मामले में आरोपी बृजेश सिंह भी अदालत में पेश नहीं हो सके। इस संबंध में सेंट्रल जेल के अधीक्षक की तरफ से अदालत में रिपोर्ट दी गयी कि बृजेश सिंह अपने भाई के तेरहवीं में शामिल होने के लिए हाइकोर्ट के आदेश पर पेरोल पर है, जिससे उन्हें अदालत में पेश नहीं किया जा सका है। जिसके बाद अदालत ने इस मामले में सुनवाई के लिए अगली तिथि 27 फरवरी नियत कर दी है।

admin

No Comments

Leave a Comment