वाराणसी।  सालों की परंपरा को निभाते हुए शिवसैनिक महाशिवरात्रि पर जलाभिषेक के लिए निकले लेकिन हर बार की तरह उन्हें रोक दिया। दशाश्वमेध स्थित चितरंजन पार्क से मां श्रृंगार गौरी के जलाभिषेक के लिए निकले दर्जनों शिव सैनिकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान शिव सैनिकों ने वहीं सड़क पर बैठ कर जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

योगी सरकार पर हमलावर हुए शिवसैनिक

शिव सैनिकों का नेतृत्व कर रहे महानगर प्रमुख धनंजय तिवारी ने योगी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा की योगी सरकार और पिछली सरकारों में कोई अंतर नहीं है। जलाभिषेक से रोके जाने से क्षुब्ध धनंजय तिवारी ने कहा कि केवल कहने के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार हिंदुत्व की सरकार है, लेकिन एक विशेष वर्ग को खुश करने के लिए सरकार और प्रशासन ने शिव सैनिकों को इस जलाभिषेक करने से रोका। वहीं, दूसरा वर्ग नमाज अदा करने के लिए आज भी आता है। ऐसी सरकार की हम निंदा करते है जो नमाज अदा करवाती है, लेकिन शिव सैनिकों को जलाभिषेक से रोकती है। इस दौरान दर्जनों शिव सैनिक गिरफ्तार किए गए है जो बहुत ही शर्म की बात है।

पुलिस ने किया गिरफ्तार

सीओ दशाश्मेध स्नेहा तिवारी ने बताया कि आज दर्जनों की संख्या में ये शिव सैनिक विवादित स्थल के पास स्थित श्रृंगार गौरी के जलाभिषेक के लिए जा रहे थे, जिन्हे गिरफ्तार कर लिया गया है। बताते चले, जिस श्रृंगार गौरी पर जल चढ़ाने के लिए शिवसैनिक जा रहे थे वो ज्ञानवापी मस्जिद के पीछे है। विवादित स्थल के रूप में होने के कारण यहां किसी नई परंपरा को प्रशासन नहीं होने देना चाहता।

admin

No Comments

Leave a Comment