वाराणसी। जिन्ना की तस्वीर को लेकर आंदोलन की आग अलीगढ़ से वाराणसी पहुंच चुकी है। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से जिन्ना की तस्वीर हटाने को लेकर शिवसेना ने बढ़ा ऐलान किया है। शिवसेना की स्थानीय ईकाई ने जिन्ना की तस्वीर हटाने वाले शख्स को पांच लाख रुपए देने का ऐलान किया है।

पोस्टर के जरिए दिया संदेश

दरअसल जिन्ना को लेकर इन दिनों पूरे देश में सियासी जंग छिड़ी हुई है। कर्नाटक चुनाव के पहले बीजेपी ने इसे बड़ा मुद्दा बना लिया है। हालांकि बीजेपी नेता और मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य पार्टी की नीति से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। इस बीच बीजेपी को शिवसेना का समर्थन मिला है। वाराणसी में सुबह ही शिवसैनिकों की टोली सड़कों पर उतर आई। शिवसैनिकों ने अर्दली बाजार इलाके में जगह-जगह पोस्टर चस्पा किए।

शिवसैनिकों ने जिन्ना को बताया खलनायक

शिवसेना के उप राज्य प्रमुख अजय चौबे  के मुताबिक जिन्ना देश के विभाजन के खलनायक हैं। इस खलनायक को इतनीतवज्जो दिया जाना ठीक नहीं है। उनका कहना था कि आज भी भारत-पाकिस्तान सीमा पर हमारे जवानों के सिर काटे जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जवानों पर आए दिन हमला हो रहा है। पाकिस्तान से भारत में आतंकवाद को बढ़ाया जा रहा है। इन सबके बाद भी अगर कोई इस खलनायक को हीरो बना रहा है, तो वह भी दोषी है।

admin

No Comments

Leave a Comment