देख कर काले धंधे की ‘कमाई’ पुलिस की आंखे फटी रह गयी, गांजे का कारोबार पर 35 नकदी और 50 करोड़ की रजिस्ट्री के कागजात

वाराणसी। छोटी पुड़िया में गांजा बेचने वालों की कमाई क्या होती है इसका अंदाजा पुलिस को नहीं था लेकिन बुधवार को छापेमारी में कुछ ऐसा खुलासा हुआ कि एक बारगी को पुलिस टीम भी सकते में रह गयी। छोटी दुकानों को माल सप्लाई करने वाले राजकुमार जायसवाल उर्फ राजू के यहां से 35 लाख रुपये नकदी के अलावा 50 करोड़ से अधिक की सम्पति को खरीदने के काागजात मिले हैं। यहीं नही घर पर सौ से पालबुक रखी थी जिसके बारे में आशंका जतायी जा रही है कि या तो बेनामी है या दूसरे के नाम पर खाता खुलवा कर इसे गिरोह इस्तेमाल करता है।

चार गिरफ्तार, सरगना फरार

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने गिरफ्तार आरोपितों को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि एसओ लक्सा अमित मिश्रा और आबकारी निरीक्षक जय नारायण सिंह की संयुक्त टीीम ने लालकुटी के पास से दो लोगों को दो लाख रुपये नकदी और दो किलो गांजे के साथ पकड़ा। कड़ाई से पूछताछ में इन्होंने कबूल किया कि हम लोगों का सरगना राजू सेठ उर्फ राजकुमार जायसवाल निवासी छोटालालपुरा (कैंट) हैं। हम लोगों को उसी के घर से अवैध गांजा मिलता है जिसको शहर में बताये गये जगहों पर पहुंचाते है। वहां से नासिर अहमद के संग अमन जायसवाल पकड़ा गया। राजू सेठ घर पर मौजूद नहीं था लेकिन तलाशी में उसके घर से 23 किलोग्राम अवैध गांजा, 280 किलोग्राम अवैध भांग, 35 लाख नकद, 5 मोटरसाइकिल, एक पिस्टल 0.32 बोर व 8 अदद मोबाइल विभिन्न कम्पनियों बरामद हुआ।

Related posts