जौनपुर। खुटहन ब्लाक प्रमुख चुनाव को लेकर अपना दल सांसद हरिवंश सिंह और कद्दावर नेता धनंजय सिंह के बीच जुबानी जंग तेज होने लगी है। लखनऊ में आयोजित प्रेस कॉफ्रेंस में हरिवंश सिंह ने धनंजय और ललई यादव पर संगीन आरोप लगाए तो शाम होते होते विरोधी खेमा भी जवाब देने के लिए मैदान में उतर आया। पूर्व सांसद धनंजय सिंह ने मैदान संभाला और चैलेंज देते हुए कहा कि हरिवंश सिंह अपने आरोपों को साबित करें वरना माफी मांगे। उन्होंने कहा कि हरिवंश सिंह फर्जी भाजपाई बनकर घूम रहे हैं। प्रतापगढ़ में उनका राजनीतिक अस्तित्व खतरे में पड़ चुका है इसलिए वह जौनपुर में पैठ बनाने की कोशिश कर रहे हैं।

हरिवंश में नहीं है क्षत्रियों के गुण

धनंजय सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि हरिवंश सिंह को नकली क्षत्रिय महासभा का अध्यक्ष बताया। ना तो कर्म और ना ही धर्म से उनके अंदर क्षत्रिय का गुण है। उन्होंने कहा कि अपने नीहित स्वार्थों के लिए इस शख्स ने मां और बेटी के बीच झगड़ा लगवा दिया। प्रतापगढ़ की जनता आज खुद को ठगा महसूस कर रही है। लोगों ने जगह-जगह गुमशुदगी के पोस्टर लगा रखे हैं। उन्होंने कहा 2010 में उनके समर्थन से हरिवंश सिंह के बेटे ने ब्लॉक प्रमुख चुनाव में जीत हासिल की थी।

सपा ने दिए सांसद की गुंडई के सबूत

दूसरी ओर समाजवादी पार्टी ने भी हरिवंश सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। लखनऊ में आयोजित एक प्रेस कॉफ्रेंस में पार्टी प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने मीडिया के सामने एक वीडियो जारी किया जिसमें ये दिखाया गया है कि सांसद हरिवंश सिंह काफिले के साथ बैरिकेंडिंग के भीतर जाते हुए दिख रहे हैं। उनका आरोप था कि फायरिंग और गुंडई सांसद हरिवंश सिंह ने की जबकि आरोप सपा नेता पर लगाया जा रहा है। उन्होंने पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की। साथ ही अल्टीमेटम दिया कि अगर ललई यादव और उनके साथियों पर लगे मुकदमे वापस नहीं लिए जाते हैं तो सपा प्रदेशव्यापी आंदोलन करेगी।

admin

No Comments

Leave a Comment