मिर्जापुर। मड़िहान स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय आवासीय बालिका विद्यालय में गुरूवार की दोपहर में बड़ा हादसा हो गया। दूषित खाना खाने की वजह से विद्यालय की 94 छात्राएं बीमार हो गईं। इनमें से सात की हालत गंभीर बताई जा रही है। घटना के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में कुछ को पास के स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया जबकि अन्य के इलाज के लिए विद्यालय को ही अस्थाई अस्पताल बना दिया गया।

खाना खाने के बाद बिगड़ी हालत
खबरों के अनुसार दोपहर में खाना खाने के बाद छात्राएं अर्धवार्षिक परीक्षा देने के लिए क्लासरूम में चली गईं। इसी दौरान एक के बाद एक छात्राओं को उल्टी दस्त होने लगी। छात्राओं के हालत बिगड़ती देख विद्यालय प्रशासन के हाथपाँव फूलने लगे। सूचना पाकर जिला प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। लेकिन यहां भी घोर लापरवाही देखने को मिली। छात्राओं को अस्पताल भेजने तक के लिए साधन नहीं थे। लिहाजा स्कूल में ही छात्राओं को इलाज शुरू हो गया। छात्राओं को फर्श पर लिटाकर इलाज किया गया।

672

छात्राओं ने लगाए गंभीर आरोप
इस दौरान कुछ छात्राएं ने विद्यालय प्रशासन पर गंभीर आरोप लगाए। वायरल से पीड़ित छात्राओं का आरोप है कि कई दिनों से विद्यालय की स्टॉफ नर्स से दवाई की मांग की जा रही थी, लेकिन स्टॉफ नर्स नीतू सिंह छात्राओं को दवा न देकर भगा देती थी। धीरे-धीरे बीमारी पांव पसारती गयी। इस बीच विद्यालय में छात्राओं की बीमारी की जानकारी होने पर आसपास के अभिभावक पहुँच गए। लेकिन विद्यालय प्रशासन ने परिजनों को छात्राओं को देने से मना कर दिया किया। इसके बाद अभिभावक विद्यालय प्रशासन के रवैया से नाराज होकर हंगामा करने लगे।

admin

No Comments

Leave a Comment