नाराज दूल्हे को घर से लाकर शादी करा बचाई इज्जत, पुलिस ने मानवीय दृष्टिकोण दिखाते हुए की पहल

वाराणसी। घरातियों और बराजियों में अक्सर विवाद हो जाते हैं लेकिन कभी कभार विवाद इस कदर बढ़ जाता है कि विवाद टूट जाते हैं। ऐसा ही कुछ तितखोरी सजोई गांव (जंसा) में शुक्रवार की देर रात देखने को मिला। परिवारवालों से कहासुनी होने के बाद दूल्हा शादी से इनकार करते हुए वापस अपने घर बगैर शादी किये व बताये ही चला गया। इससे असममंजस की स्थिति बन गयी। जब कहासुनी पर वर पक्ष ने रिश्ता तोड़ने का एलान कर दिया जो इसकी भनक मिलने पर पहुंची जंसा पुलिस मैराथन पंचायत में जुट गयी। काफी समझाने-बुझाने के बाद विवाद का खत्मा विवाह के साथ हुआ जिस पर सभी ने राहत की सांस ली।

घर जाकर पुलिस ने दूल्हे को समझाया

भवानीपुर-पिसौरपुल (शिवपुर) निवासी रामदुलार राजभर के पुत्र बलवंत राजभर की शादी 10 मई दिन शुक्रवार की रात तितखोरी-सजोई निवासी श्याम राजभर के पुत्री पूनम राजभर से होनी थी। बारात जैसे ही जंसा क्षेत्र के तितखोरी में आयी उसके कुछ ही समय बाद बारातियों व घरातियों में किसी बात को लेकर कहासुनी व विवाद हो गया। इसके बाद दूल्हा बगैर बताए अपने घर भवानीपुर चला गया। सूचना पर पहुंची जंसा पुलिस ने दूल्हे के नंबर पर सम्पर्क कर वार्तालाप किया। इसके बाद पुलिस उसके घर पहुंची और किसी तरह समझाने के बाद दूल्हा शादी करने को तैयार हो गया। डायल हंड्रेड अपने गाड़ी के साथ साथ दूल्हे को लेकर शादी समारोह में पहुंची और अपने मध्यस्थता में दोनों की शादी हिंदू रीति रिवाज से संपन्न करायी। वधू पक्ष ने जंसा पुलिसकर्मियों को भगवान के रूप में मानते हुए धन्यवाद दिया और श्याम राजभर ने कहा कि अभी भी खाकी वर्दियों में मानवता बनी हुई है। शादी सम्पन्न कराने वालों में हेड कांस्टेबल मिथिलेश कुमार सिंह,कांस्टेबल चालक दुर्गेश कुमार,कांस्टेबल महेश सिंह व तितखोरी के सम्मानित व्यक्ति उपस्थित रहे।

Related posts