वाराणसी। हाईकोर्ट के फैसले के बाद प्रदेश सरकार की तरफ से सार्वजनिक स्थानों पर मौजूद धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटाने को लेकर सरकार की तरफ से पुलिस को दिए गए आदेश को काशी प्रवास के लिए वाराणसी पहुंचे शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने गलत बताया। उनका कहना है कि किसी एक धर्म के खिलाफ कुछ नहीं होना चाहिए। अगर कार्रवाई करनी है, तो सबसे पहले मस्जिदों पर से लाउडस्पीकर हटाएं और फिर हमारे यहां।

मैं ही दोनों पीठ का शंकराचार्य
जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती ने आज बनारस में अपने केदार घाट स्थित मठ में दो पीठ पर उनके ही शंकराचार्य होने को लेकर हुए विवाद पर अपने को ही ज्योतिष्पीठ का शंकराचार्य बताया।शंकराचार्य ने स्वामी वासुदेवानंद को पीठ का शंकराचार्य मानने से न केवल इंकार ही किया, बल्कि उनके सन्यासी होने पर ही प्रश्न लगाया। शंकराचार्य ने इसे सम्पति और सम्मान की लड़ाई नहीं, बल्कि धर्म की लड़ाई की बात बताई।

गंगा पर से हटे बांध
गंगा के निर्मलीकरण पर पूछे प्रश्न पर शंकराचार्य ने गंगा पर बन रहे बांधों का विरोध करते हुए अंतिम संस्कार जैसे धार्मिक अनुष्ठानों पर रोक की मंशा को भी गलत ठहराया। उन्होंने कहा कि गंगा के प्रदूषित होने पर भी हम उसमें नहाएंगे और मरेंगे भी, हम गंगा को नहीं छोड़ेंगे। गंगा में हड्डी डालने से वो बालू में बदल जाती है।

सनातन धर्म में नारी का धर्म
शंकराचार्य पद पर महिला सन्याशी का नाम आने के सवाल पर कहा कि धर्म में महिलाओं का इस पद पर आसीन होना धर्म विरुद्ध है। उन्होंने कहा कि सनातन धर्म में बताया गया है कि नारी को अपने उद्धार के लिए पतिव्रत धर्म का पालन करना चाहिए। उसमें हम लोग बाधा नहीं डाल रहे हैं। सनातन धर्म में नारी का कोई और धर्म है, तो बताए?

अयोध्या में बने परम ब्रह्म परमात्मा का मंदिर
वाराणसी में शंकराचार्य ने अधोध्या में राममंदिर निर्माण पर कहा कि रामजन्म भूमि में मंदिर बने, वो परम ब्रम्ह परमात्मा का हो, आदर्श पुरुषोत्तम राम का नहीं। राम आदर्श तब बनें, जब उन्होंने विश्वामित्र के यज्ञ की रक्षा की, माता पिता की आज्ञा के लिए वन गए और आकर राम राज्य स्थापित किया।

पीएम पर कसा तंज
स्वामी जी ने पीएम मोदी पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि आज भी भारत सबसे बड़ा गौ मांस का निर्यातक है और गौ हत्या हो रही है। मोदी ने बतौर प्रत्याशी गौ मांस निर्यात रोकने के वादे किए थे, लेकिन कुछ हुआ नहीं। उन्होंने विवादित बाबाओं पर कहा कि जिनके बाल,बच्चे, औरतें हैं, वो सन्यास नहीं लिए हैं। वे कहां के बाबा हैं, मीडिया इनको बाबा बनाती है, ये बाबा नहीं अपराधी हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment