वाराणसी। स्वास्थ्य विभाग के पेंच कसने के बाद जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र ने सोमवार की सुबह कार्यालय खुलने के समय ही विकास भवन आ धमके। औचक छापेमारी में कृषि विभाग के 2 कर्मियों का पटल परिवर्तन किए जाने के साथ ही समाज कल्याण विभाग के 2 कर्मियों के एक दिन के वेतन भुगतान पर रोक लगाई गयी है। विकास भवन में निरीक्षण करने के डीएम सीधे सदर तहसील और उसके बाद जिला पूर्ति कार्यालय पहुंचे। जिला पूर्ति कार्यालय में बेतरतीब तरीके से रखें फाइलों एवं सरकारी अभिलेखों को उन्होंने सुव्यवस्थित ढंग से रखे जाने का निर्देश दिया। कार्यालय में समुचित सफाई व्यवस्था न होने पर उन्होंने नाराजगी जताई तथा सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने हेतु जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देशित किया।

वर्षों से जमे ‘बाबुओं’ का पटल परिवर्तित

डीएम सोमवार सुबह सवा 10 बजे विकास भवन पहुंच कर कार्यालयों का औचक निरीक्षण में जुट गये। समाज कल्याण विभाग में निरीक्षण के दौरान शकीला बेगम एवं श्रीनाथ अनुपस्थित पाए गए। डीएम ने इन दोनों कर्मियों के 1 दिन के वेतन भुगतान पर रोक लगा दी। इसके बाद डीएम ने कृषि विभाग के औचक निरीक्षण के दौरान वरिष्ठ सहायक अरविंद श्रीवास्तव एवं अनिल कुमार सिंह को 7-8 वर्षों से एक ही पटल पर जमें होने की जानकारी पर तत्काल पटल परिवर्तन किए जाने का जिला कृषि अधिकारी को निर्देश दिया। उन्होंने विकास भवन के अन्य कार्यालयों का भी औचक निरीक्षण किया तथा समय से कार्यालय आने व अपने पटल के कार्यों को सुचारु रुप से संपादित किए जाने हेतु मौके पर मौजूद अधिकारी कर्मचारियों को निर्देशित किया।

admin

No Comments

Leave a Comment