बगंला विवाद पर सपा के प्रदेश अध्यक्ष ने दिलायी मेडिकल कालेज में बच्चों के मौत की याद

वाराणसी। समाजवादी पार्टी अपने मौजूदा सुप्रीमो अखिलेश यादव के बंंगले विवाद को लेकर घिरती नजर आ रही है। एक तरफ खुद अखिलेश यादव नल की टोंटी लेकर सफाई देते फिर रहे हैं तो दूसरी तरफ प्रदेश अध्यक्ष समेत अन्य नेता भी दूसरों मुद्दों की तरफ ध्यान दिला रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने गुरुवार को मीडिया से बातचीत के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा बंगला खाली करने के बाद हो रहे विवाद पर कहा कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार संवेदनहीन है। इसके अंदर मानवता और महत्त्व का कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देता है। बीआरडी कॉलेज में 40 बच्चों की मौत पर इन लोगों ने क्या किया आज वह लोग हिसाब मांग रहे हैं। नरेश उत्तम ने सिद्धार्थनाथ सिंह द्वारा अखिलेश पर दिए गए दो मुहावरों के जवाब में कहा कि उल्टा चोर कोतवाल को डांटे आॅक्सीजन कांड में कितने बच्चे मरे उनके परिवारों से मिलकर हालचाल लिया। प्रदेश में कानून व्यवस्था को ध्वस्त हुई है, साथ में चिकित्सा व स्वास्थ्य व्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त है।

देश की राजनीति परिवर्तित करेगा महागठबंधन

नरेश उत्तम ने 2019 के लिए बन रहे प्रस्तावित महागठबंधन पर कहा कि यह गठबंधन भारत की राजनीति में आमूलचूल परिवर्तन करेगा। इसकी शुरूआत उत्तर प्रदेश में हुए उपचुनाव से हो गई है। कैराना में 28 मई को वोटिंग के पहले उसके बगल में बागपत में प्रधानमंत्री ने 27 को सभा की वहां के चौड़ीकरण को नया निर्माण बता रहे थे। दरअसल सपा सरकार में हुए काम पर नेम प्लेट लगाकर अपना बता दिया। यह लोग दूसरे के कामों पर अपना नेम प्लेट लगाकर अपना पीठ थपथपाते हैं। प्रधानमंत्री द्वारा कुमार स्वामी को फिटनेस चैलेंज दिए जाने पर कहा कि महंगाई गरीब किसान मजदूरों के मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए भाजपा रोज इस तरह के नए नए मुद्दे लाती है। जनता जान चुकी है और इनको आने वाले चुनाव में हटा देगी।

Related posts