कुख्यात झुन्ना की पेशी के पहले होने लगी ‘वसूली’, एक लाख नकदी के साथ भाई कचहरी से गिरफ्तार

वाराणसी। पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में एक के बाद कर संगीन वारदातों को अंजाम देने वाले एक लाख के इनामी रह चुके श्रीप्रकाश उर्फ झुंन्ना पंडित को अभी पंजाब जेल से नहीं लाया जा सका है। बावजूद इसके उसके नाम पर ‘उगाही’ का सिलसिला आरम्भ हो चुका है। इस आशंका को बल इस खातिर मिल रहा है कि शुक्रवार को झुन्ना के भाई ओमप्रकाश मिश्रा उर्फ सोनू को कैन्ट पुलिस ने कचहरी चौराहे के पास गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तलाशी के दौरान उसके पास से एक लाख नगद भी किया बरामद किया है। पूछताछ के दौरान सोनू धन के बाबत कोई जानकारी नहीं दे सका। माना जा रहा है जेल की व्यवस्था और विधिक सहायता के नाम पर उतारी रकम को सोनू कहीं पहुंचाने जा रहा था।

दिव्यांग हत्याकांड में था वांछित

सोनू की गिरफ्तारी सिर्फ एक लाख नकदी मिलने की खातिर नहीं हुई है बल्कि वह तो लालपुर में दिव्यांग चाय-पान विक्रेता दिलीप पटेल की गयी हत्या के मामले में वांछित चल रहा था। झुन्ना की नाटकीय ढंग से पंजाब में गिरफ्तारी और गिरोह से जुड़े दूसरे शूटरों की धर-पकड़ के समय वह फरार चल रहा था। कोर्ट ने हत्या के मामले में सहआरोपित होने के चलते उसके खिलाफ एनबीडब्ल्यू भी जारी किया था।

Related posts