लखनऊ। जोन में 22 नये थानों को खोलने के लिए प्रस्ताव को डीजीपी सुलखान सिंह ने अग्रिम कार्रवाई की खातिर पुलिस मुख्यालय भेजा है। इसमें वाराणसी में तीन नये थाने भी शामिल हैं। डीजीपी कार्यालय ने एक्टिविस्ट डा. नूतन ठाकुर द्वारा मांगी गयी सूचना में इसकी पुष्टि की है। तत्कालीन एडीजी अपराध अभय कुमार प्रसाद, आईजी रूल्स एवं मैन्युअल अमिताभ ठाकुर, आईजी एटीएस असीम अरूम तथा आईजी पीएचक्यू पीके मिश्र की समिति ने वाराणसी जोन में तत्काल 22 नए थाने स्थापित किये जाने की संस्तुति की थी। नये थानों के खुलने से अपराध पर अंकुश लगाने में मदद मिलेगी।

यहां पर खुलने हैं नये थाने

प्रस्ताव के मुताबिक वाराणसी में बजरडीहा, रोडवेज तथा चितईपुर, आजमगढ़ में बलरामपुर व लाटघाट, मीरजापुर में मतवार व सक्तेशगंज, मऊ में रामपुर व दुबारी, सोनभद्र में सुकृत व चकरिया, जौनपुर में बीबीगंज व बरईपारा, चंदौली में औद्योगिकनगर, मारुफपुर व बहादुरपुर, बलिया में कोरंटादेह, रतसड व संवरा, गाजीपुर में थाने हसराजआवर व गोराबाजार तथा भदोही में मौडिया शामिल हैं। इस प्रस्ताव को डीजीपी द्वारा अग्रिम कार्यवाही के लिए पीएचक्यू भेजा है जहां से वित्तीय स्वीकृत समेत दूसरी मंजूरी मिलेगी।

मानक के 50 फीसदी थाने हैं प्रदेश में

नूतन को दी गयी सूचना के अनुसार इस समिति ने कहा है कि उत्तर प्रदेश पुलिस में सरकार द्वारा तय मानक के अनुसार आवश्यक पुलिस थानों में मात्र 50% थाने ही उपलब्ध हैं। पूरे राज्य में 2891 थानों की जगह मात्र 1463 उपलब्ध हैं और 1428 थानों की कमी है। इस समिति द्वारा यह कमी प्रत्येक वर्ष 150 नए पुलिस थाने खोलते हुए 10 वर्षों में भरे जाने की संस्तुति की गयी है।

admin

No Comments

Leave a Comment