वाराणसी। कानून-व्यवस्था के मोर्चे पर प्रदेश से लेकर जिलास्तर तक होने वाली समीक्षा बैठकों में सूचना मिलने के बाद मौके पर तत्काल पहुंचने के निर्देश दिये जाते हैं। हकीकत क्या होती है यह जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्र को रविवार की सुबह अस्सी घाट पर देखने को मिली। खुद कलेक्टर के बुलाने पर भेलूपुर इंस्पेक्टर को आने में डेढ़ घंटा लग गया। थाने से एक किलोमीटर की दूरी डेढ़ घंटे में तय करने पर डीएम का पारा चढ़ गया और उन्होंने जमकर फटकार लगायी। यह दशा तब है जब दो दिन पहले डीएम के निरीक्षण के दौरान खामियां मिलने पर एसओ मंड़ुवाडीह को निलंबित किया जा चुका है।

घाट पर नशेड़ियों को देख चढ़ा था पारा

रविवार की सुबह साढ़े 5 बजे डीएम अस्सी घाट सुबह ए बनारस के कार्यक्रम में पहुंचे। वहां पर उन्होंने घाटों पर गांजा पी रहे अराजक तत्वों को देख कड़ी फटकार लगाई। डीएम के वहां पहुंचने पर घाटों पर इधर-उधर बैठे और नशा कर रहे लोग भागने लगे। इस पर जिलाधिकारी ने 6 बजे थाना प्रभारी भेलूपुर को अस्सी घाट पर तलब किया और इंतजार करते रहे। डीएम के बुलाए जाने के लगभग डेढ़ घंटे बाद लगभग 7:30 बजे भेलूपुर थाना प्रभारी अस्सी घाट पहुंचे। इस पर डीएम का पारा चढ़ गया और उन्होंने थाना प्रभारी को कड़ी फटकार लगाते हुए अस्सी घाट पर गश्त बढ़ाने का निर्देश दिया। ताकि घाट पर आने वाले स्नानार्थियों को किसी भी प्रकार की समस्या न होने पाए। उन्होंने घाटों पर गंदगी देख नगर निगम के जोनल अधिकारी को भी कड़ी फटकार लगाई तथा नियमित रूप से साफ सफाई कराए जाने का निर्देश दिया। इसके बाद जिलाधिकारी ने अस्सी घाट पर योगा भी किया।

admin

No Comments

Leave a Comment