आशापुर में करने से पहले रावण दहन चले लात-घूंसे दनादन, पुलिस ने लाठी पटककर खदेड़ा तो देर तक थाने पर हंगामा

वाराणसी। बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाये जाने वाले विजयदशमी पर्व पर आशापुर गांव में दो पक्षों के बीच जमकर मारपीट होने लगी। रावण दहन के दौरान दोनों पक्षों के बीच हो रही कहासुनी जब मारपीट हुई तो पुलिस ने पहले तो उन्हें नियंत्रण करने की कोशिश की। हालात बेकाबू होते देखकर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लाठी पटककर उपद्रवियों को खदेड़ना शुरू कर दिया। घटनाक्रम के चलते दौरान आधा दर्जन से ज्यादा लोग जख्मी हो गए। रामलीला समिति के कार्यकर्ताओं ने इसके विरोध में देर रात तक सारनाथ थाने में हंगामा किया। पुलिस ने इस प्रकरण में तहरीर के आधार पर 10 नामजद व 20 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पहले से चल रहा था गुटों में तनाव

बताया जाता है कि रामलीला में वर्चस्व को लेकर दोनों गुटों के बीच कई दिन पहले से तनाव चल रहा था। विवाद के लिए मौके की तलाश थी। मंगलवार की रात रावण दहन के समय किसी बात को लेकर बंटी पांडेय और डा. प्रवीण पांडेय में हाथा-पायी होने जो मारपीट में बदल गयी। दूसरी तरफ रामलीला समिति के अध्यक्ष मोरारी पांडेय ने रामलीला व रावण दहन के दौरान चौकी प्रभारी आशापुर मो. शाबान पर लापरवाही का आरोप लगाया। साफ शब्दों में कहा कि घटनाक्रम के दौरान यदि पर्याप्त पुलिसकर्मी तैनात होते तो कुछ नहीं होता।

Related posts