वाराणसी। सर्दी के दिनों में ट्रेनों की लेटलतीफी आम बात है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए रेलवे लगातार कोशिशें भी कर रहा है। घने कोहरे से निबटने के लिए रेलवे अब आधुनिक उपकरणों का सहारा लेने जा रही है। इसी के तहत अब केन्‍द्र सरकार अब ट्रेनों में त्रिनेत्र कैमरे लगाने जा रही है। माना जा रहा है कि आधुनिक कैमरों की बदौलत घने कोहरे में भी ट्रेन की रफ्तार पर अधिक प्रभाव नहीं पड़ेगा। हालांकि कैमरों के रेट को लेकर मामला अभी फंसा हुआ है।

926

इंजनों में लगाए जाएंगे फॉग कैमरे

वारणसी दौरे पर पहुंचे मनोज सिन्हा ने शुक्रवार को डीरेका में इलेक्ट्रीक इंजन का उद्धाटन किया। इसके बाद मीडिया से बात करते हुए उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि सर्दी के दिनों में कोहरे के चलते ट्रेनें लेट हो रही है। हालांकि ये कोई नई समस्या नहीं है। उन्होंने कहा कि इस समस्‍या को दूर करने के लिए हम जल्द ही रेलवे इंजनो में फाग कैमरा लगाने जा रहे हैं। ट्रेनों के परिचालन को और बेहतर करने के लिए त्रिनेत्र कैमरे लगाने की योजना है। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि कुछ लोको इंजनो में फाग सेव डिवाईस लगाए गए हैं, लेकिन कुछ जगह लगाने से इसका समाधान नहीं होगा। वैज्ञानिक रूप से अभी तक कोहरे में लोको को चलाने के लिए कोई डिवाईस नहीं है। इसलिए कैमरे लगाने की तैयारी की गई है। उन्होंने कहा कि कोहरे पर शोध करने वाले शिक्षण संस्थान इस पर शोध कर रहे हैं। जल्द ही हम इस समस्या का समाधान कर लेंगे।

admin

No Comments

Leave a Comment