राफेल उतरा अंबाला लेकिन मिठाई बंटी बलिया में, जिले के विंग कमांडर की उपलब्धि पर झूमे जनपदवासी

बलिया। राष्ट्र की सीमाओं के सुरक्षा के साथ समझौता और रक्षा सौदों में दलाली देश कभी बर्दाश्त नहीं करता। स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद रिकार्ड सीटें जीतने वाले राजीव गांधी की सरकार महज कुछ करोड़ रुपये की दलाली के आरोपों के चलते चली गयी थी। पिछले लोकसभा चुनाव में विपक्ष ने जिस राफेल को मुद्दा बनाने की कोशिश की वह ‘बैक फायर’ कर गयी। कांग्रेस लगातार दूसरी बाद दहाई में सिमट गयी और सैकड़ा तो दूर इसका आधा आंकड़ा पार करना संभव नहीं रहा। राहुल गांधी ने जिस फ्रांसीसी विमान को लेकर पीएम से लेकर तमाम आरोप लगाये थे वह अंतत: बुधवार को भारत पहुंच ही गयी। खास यह कि विमान उतरे अंबाला में लेकिन जश्न ‘बागी’ बलिया में मानाया जा रहा था।

गांव के युवक ने दिया जश्न का मौका

सोशल मीडिया पर इन दिनों बंकवा गांव की चर्चा हर तरफ हो रही है। यहां बुधवार को एक दूसरे को मिठाई खिलाकर, पटाखा बजाकर, खुशियां मनाने का यह अवसर ऐसे नही है। दरअसल मनीष सिंह (विंग कमांडर) ने यह मौका दिया है। जब से मनीष की फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई उनके पैतृक गांव में अलग-अलग अंदाज से खुशी जाहिर की जा रही है। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि अरुण सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों युवा के साथ ही गांव की महिलाएं बुजुर्ग भी इस खुशी में शरीक होने से नही चूके। मां उर्मिला सिंह का कहना है कि बहुत खुशी हो रही है जबकि चचेरी बहन अंजली की माने तो राफेल रक्षाबंधन पर भाइयों का गिफ्ट मिला है। मेरे भाई ने देश प्रदेश ही नही अपने जिले व गांव का नाम फिर से रोशन कर दिया है।

देश सेवा खानदानी ‘परम्परा’

राफेल लेकर आने वाले विंग कमांडर मनीष दो भाई-दो बहन हैं। छोटे भाई अनुज, बबली, प्रिया उनके साथ बाहर ही रहते हैं। पिताजी मदन सिंह पूर्व सैनिक तथा बाबा पुण्यदेव सिंह पूर्व सैनिक गांव पर ही रहते हैं। बाबा ने कहा कि यह खुशी ऐसी है कि मेरा आशीर्वाद है मनीष अपने जीवन में और तरक्की करे। हिन्दू धर्म में जैसे ही खुशियां मिलती हैं तो अपने अनुसार लोग पूजा पाठ की चर्चा करने लगते हैं। यही वजह है कि ग्रामीणों में खुशी इस कदर है कि शाम को मनीष के दरवाजे सामाजिक दूरी के तहत पूजा पाठ का आयोजन किया गया है।

Related posts