वाराणसी। अधिवक्ता हरिओम त्रिपाठी पर जानलेवा हमले और सेंट्रल व बनारस के पूर्व अध्यक्ष अमरनाथ शर्मा के बैंक खाते से लगभग 3 लाख की ठगी के विरोध में जिले के अधिवक्ताओं में जबरदस्त आक्रोश रहा। बुधवार को सेंट्रल व बनारस बार से जुड़े अधिवक्ता बार कौन्सिल के पूर्व सदस्य श्रीनाथ त्रिपाठी और पीड़ित अधिवक्ताओं ने नारेबाजी करते हुए सर्किट हॉउस पहुंचे और सीओ कैंट तथा सीओ चेतगंज से मिले। पुलिस की तरफ से अधिवक्ता के को हमलावरों की अविलम्ब गिरफ्तारी और अधिवक्ता के खाते से ठगी मामले की विवेचना क्राइम ब्रांच से कराने का आश्वाशन मिला। सर्किट हाउस में कई वीवीआईपी को आना था और अचानक हुए घटनाक्रम से पुलिस बैकफुट पर आ गयी। बाद में एसपी सिटी दिनेश सिंह ने मामले की जानकारी लेने के बाद कार्रवाई के निर्देश दिये।

न्यायिक कार्य से भी विरत रहे

इस बीच सेंट्रल और बनारस बार ने इस मुद्दे पर ब्रजेश मिश्र,सत्यप्रकाश श्रीवास्तव व धनंजय शर्मा की ओर से लाये गए प्रस्ताव पर गुरूवार को पुरे दिन न्यायिक कार्य से विरत रहने का प्रस्ताव पारित किया। बैठक की अध्यक्षता सेंट्रल बार अध्यक्ष प्रभुनाथ पाण्डेय,संचालन संजय सिंह दाढ़ी ने किया। बैठक में बनारस बार अध्यक्ष नरेंद्र श्रीवास्तव, महामन्त्री रजनीश मिश्र, हरिशंकर सिंह, अशोक रॉय, अशोक सिंह प्रिन्स, शिवपूजन गौतम, अनुज यादव, धीरेन्द्रनाथ शर्मा, अशोक उपाध्याय, घनश्याम सिंह, धीरेन्द्र श्रीवास्तव, रंजन मिश्र, सूर्यभान सिंह आदि अधिवक्ता शामिल रहे।

admin

No Comments

Leave a Comment