वाराणसी। बीएचयू कला संकाय के संस्कृत विभाग के वरिष्ठ प्रो. गोपालबन्धु मिश्र श्री सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय, वेरावल, गुजरात के कुलपति के पद पर नियुक्त किये गये हैं। उनका कार्यकाल तीन वर्षों का रहेगा। प्रो. मिश्र संस्कृत के पूर्व विभागाध्यक्ष हैं। वे संस्कृत व्याकरण के मर्मज्ञ विद्वान एवं अत्यंत छात्र प्रिय अध्यापक है। विश्वविद्यालय में लम्बी सेवा के साथ प्रो0 मिश्र 2010 से 2012 तक पेरिस (फ्रांस) के सोर्बोन नोबेल विश्वविद्यालय में संस्कृत के अतिथि अध्यापक रह चुके हंै।

विदेशों मे भी है नाम

संस्कृत भाषा के प्रचार प्रसार हेतु निरन्तर प्रयत्नशील प्रो. मिश्र जर्मनी के हाइडेलबर्ग विश्वविद्यालय में प्रत्येक वर्ष बुलाये जाते हंै। यही नहीं प्रो. मिश्र उत्तर प्रदेश संस्कृत संस्थान से विशिष्ट पुरस्कार से पुरस्कृत हैं। वह देश को प्रसिद्ध स्वयंसेवी संस्था संस्कृत भारती के अखिल भारतीय उपाध्यक्ष हंै। मूलत: ओड़िशा के निवासी प्रो. मिश्र शान्ति निकेतन के स्नातकोत्तर हंै और देश की अनेक संस्थाओं की विशिष्ट समितियों के सदस्य हंै।

admin

No Comments

Leave a Comment