गाजीपुर। स्कूल-कालेज में पहले छात्रोंं में अनुशासन कायम रखने की खातिर शिक्षक पिटाई करते थे लेकिन अब शिकायत करने पर मारा-पीटा जा रहा है। ऐसा ही एक मामला भांवरकोल थाना क्षेत्र के मसोन गांव का सामने आया है। इस गांव के बोधिसत्व इंटर कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र सत्यम पांडेय ने अपने स्कूल के प्रिंसिपल और तीन टीचर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है। सत्यम पांडेय के पिता की तहरीर पर पुलिस ने मेडिकल मुआयना कराने के बाद आरोपितों के खिलाफ भांवरकोल थाने में मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसकी जानकारी मिलने पर प्रिसंपल और शिक्षक किसी अपराधी के तरह अंजाम भुजतने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि सुलह नहीं की तो कैरियर बर्बाद कर देंगे।

शरीर पर एक दर्जन से अधिक चोटों के हैं निशान

सत्यम के अनुसार एक टीचर ने उसे गाली दिया था जिसकी शिकायत उसने अपने पिता से की। पिता ने इसकी शिकायत प्रिंसिपल से की लेकिन यह बात प्रिंसिपल और सत्यम के टीचरों को नागवार गुजरी। आरोप है कि उन्होंने शिकायत के तीन-चार दिनों के बाद सत्यम को स्कूल में लंच के बाद एक कमरे में बंद करके डंडों से बुरी तरह से पीटा। इसके निशान सत्यम के पीठ और पूरे शरीर पर अभी भी हैं। पिटाई के चलते 12 गंभीर घाव अभी भी देखे जा सकते हैं जिसकी पुष्टि पुलिस द्वारा कराये गये मेडिकल में भी हुई है। अब प्रिंसिपल और टीचर अपने कृत्य पर पछताने के बजाय छात्र और उसके परिवार वालों को धमकी देने पर भी उतारू हो गये हैं और सुलह का दबाव बना रहे हैं और धमकी दे रहे हैं कि सुलह नही किया तो जान से मार देंगे। मुकदमा दर्ज होने के बाद भी परिवार को मिल रही धमकी से छात्र सहित पूरा परिवार सहमा हुआ है। वहीं एसपी सिटी ने इस मामले पर बताया कि मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और कार्यवाही की जा रही है पर धमकी के प्रकरण पर अनिभिज्ञता जतायी है।

admin

No Comments

Leave a Comment