सोनभद्र। नक्सली हिंसा से प्रभावित बभनी विकास खंड के प्राथमिक विद्यालय बरवाटोला प्रथम के छात्र रहस्यमय बीमारी का शिकार होते जा रहे हैं। इसमें बच्चों की हालत अचानक बिगड़ रही है। इसके बाद कान से लेकर गाल कर सूजन बढ़ती जा रही और बुुखार हो रहा है। बुधवार को एक के बाद बच्चों के बीमार पड़ने का सिलसिला आरम्भ हुआ तो खलबली मच गयी। इनमें से 14 बच्चे की हालत ज्यादा खराब थी। सभी बच्चों को विद्यालय के शिक्षक ने उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया है। फिलहाल सभी का इलाज चल रहा है और पैथलाजी जांच के लिए सेंपुल भेजा गया है। इलाके में स्वास्थ्य सेवाओं का बुरा हाल हाल है और नयी बीमारी से अभिभावकों के होश उड़ गये हैं।
अचानक शुरू हुआ बीमार होने का सिलसिला
प्राथमिक विद्यालय बरवाटोला के बच्चों की तबीयत अचानक बिगड़नी शुरू हुई। पहले तो एक-दो बच्चों ने शिकायत की लेकिन कुछ देर बाद संख्या बढ़ने लगी तो शिक्षकों के होश फाख्ता हो गये। बच्चों के कान से सटाकर पूरे गाल में सूजन हो गयी थी और बुखार बढ़ता जा रहा था। विद्यालय के प्रधानाध्यापक नरेन्द्र सिंह ने बताया कि 14 बच्चों को 108 एम्बुलेंस की मदद से सीएचसी बभनी भेजा जा रहा है। बीमार बच्चों में धीरसाह, देवन्ती कुमारी, सविता कुमारी, सोजी कुमारी, मुन्ना, नंदलाल, शोनसाह, मेंहीलाल,श्री संत, जितेंद्र कुमार, अनीता कुमारी, सुनीता कुमारी धनसाय और हीरालाल हैं। फिलहाल डाक्टर बीमारी के बाबत कुछ नहीं बता पा रहे हैं जिससे अभिभावक परेशान हैं।

admin

No Comments

Leave a Comment