चंदौली। साल भर पहले सूबे में सत्ता परिवर्तन के बाद सपा से जुड़े ब्लाक प्रमुख निशाने पर हैं। एक के बाद एक कर अविश्वास प्रस्ताव लाये ही नहीं जा रहे बल्कि उन्हें पारित कराया जा रहा है। इस क्रम में जनपद में भी ब्लाक प्रमुख बदले गये। बावजूद इसके कुछ ऐसे भी रहे जिन्होंने अविश्वास प्रस्ताव का सामना ही नहीं किया बल्कि इसे पारित ही नहीं होने दिया। ऐसा की कुछ चहनिया ब्लाक प्रमुख शीला सोनकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर सोमवार को वोटिंग के दौरान देखने को मिला। ब्लाक प्रमुख की तरफ से कमान संभाले सकलडीहा से सपा विधायक प्रभु नारायण यादव ने जमकर बवाल किया। फर्जी वोटिंग करने का आरोप लगाते हुए विधायक समर्थको के संग धरने पर बैठ गये। सत्ताधारी दल के नेताओं और डीएम-एसपी को खरी खोटी सुनाते हुए गुंडई करने का आरोप लगाया। मौके पर टकराव की स्थिति देखते हुए भारी मात्रा में पुलिस बल तैनात कर मामले को शांत किया गया। पूरा जोर लगाने के बाद भी भाजपा अविश्वास प्रस्ताव पास नहीं करा सकी और उसे मुंह की खानी पड़ी।

विधायक की प्रतिष्ठा थी दांव पर

चहनिया ब्लाक प्रमुख शीला सोनकर को कुर्सी दिलाने में विधायक का अहम रोल था। यही कारण था कि उन्हें हटाने के लिए भाजपा के नेता व बीडीसी मिलकर अविश्वास प्रस्ताव ले आये थे। सोमवार को अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ चहनिया ब्लाक परिसर में वोटिंग शुरू हुई। जैसे-जैसे वोट पढ़ना शुरू हुआ वैसे ही गहमा-गहमी बढ़ता गयी। सत्ता पक्ष के नेताओं द्वारा अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग की जा रही थी। तभी सपा विधायक द्वारा यह आरोप लगाया गया कि सत्ता पक्ष के नेता तथा डीएम-एसपी के मिलीभगत से बीडीसी की फर्जी वोटिंग कराई जा रही है। इस पर नाराज सपा विधायक व सपा कार्यकतार्ओं ने ब्लाक परिसर का घेराव कर धरने पर बैठ गए। लेकिन मामले को शांत करते हुए डीएम और एसपी ने गणना करायी। अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ104 वोट में 53 पड़े जिसमें 50 वैध व 3 अवैध मानते हुए परिणाम घोषित हुआ कि अविश्वास प्रस्ताव गिर गया। सपा की ब्लाक प्रमुख शीला सोनकर की कुर्सी ज्यों का त्यों बरकरार हो गई

तेवर में विधायक, बैकफुट पर भाजपा

धरना-प्रदर्शन से लेकर परिणाम आने तक सपा नेता प्रभु नारायण यादव पूरे तेवर में दिखे। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता द्वारा उल्टा-सीधा कार्य कर वसूली और दलाली करने में जुटे हैं। इसमें जिला प्रशासन की भी मिलीभगत होने का संकेत किया और कहा कि भाजपा कर्नाटक से मार खाने के बाद अब यहां भी मात खा रही है।

admin

No Comments

Leave a Comment