आजमगढ़। निर्वतमान एसएसपी अजय साहनी के जमाने से एनकाउंटर का जो सिलसिला आरम्भ हुआ उससे जनपद ही नहीं बल्कि पूर्वांचल में आतंक का पर्याय माने जाने वाले अपराधी खौफजदा हैं। ऐसा ही कुछ मंजर कोतवाली थाने में देखने को मिला। यहां पर 20 हजारा इनामी शिवानंद चौबे ने आत्मसमर्पण करते हुए कहा कि उसे जेल भेज दिया जाये। खास यह कि शिवानंद पर इस समय इनाम गोरखपुर से है लेकिन इलाहाबाद तक की पुलिस को उसकी तलाश थी। एसपीआरए एनपी सिंह के मुताबिक करिसात (जहानागंज) निवासी शिवानंद शातिर लुटेरा है और वारदात के दौरान विरोध करने पर गोली चलाने से नहीं चूकता। उसके गिरोह में पिंटू यादव, धर्मेंद्र यादव, रामानंद यादव और सरवन यादव सरीखे शातिर बदमाश शामिल है।

तमंचा-कारतूस के संग घरवालों को लेकर पहुंचा थाने

आधा दर्जन से अधिक संगीन मामलों के आरोपित शिवानंद को लग रहा ता कि पुलिस फसका एनकाउंटर कर देगी। योगी सरकार बनने के बाद आजमगढ़ में पूर्वांचल के सर्वाधिक चार एनकाउंटर हो चुके हैं। अपने परिजनों के संग तमंचा-कारतूस लेकर थाने पहुंचे शिवानंद ने परिचय बताते हुए जेल भेजने की गुहार लगायी तो पुलिस सकते में रह गयी। बाद में आर्म्स एक्ट की धाराओं के तहत उसका चालान कर दिया गया। पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर पुलिस अब उसके साथियों की तलाश में जुटी है। इलाहाबाद से गोरखपुर तक शिवानंद ने कई ऐसी वारदात को अंजाम दिया है जिसका खुलासा तक नहीं हो सका है।

admin

No Comments

Leave a Comment