वाराणसी। सीएम योगी आदित्यानाथ ने पशु तस्करों के खिलाफ अभियान क्या छेड़ा, अब तो श्रेय लेने की होड़ लग गई है। समर्थक मारपीट पर उतारू हो जा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। पशु तस्करों को गिरफ्तार कराने को लेकर बीएचयू की एक पूर्व छात्र नेहा यादव और उसके साथियों ने जमकर हंगामा किया। उसने ना सिर्फ ट्रक ड्राइवरों के साथ बदसलूकी की बल्कि कुछ छात्रों के साथ मारपीट भी । पुलिस ने आरोपी छात्रा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

आधी रात को हुआ हंगामा

बीएचयू से एमएससी कर चुकी नेहा सपा की महिला ईकाई की सदस्य भी है। बताया जा रहा है कि पिछले तीन दिनों से वह पशु तस्करों के खिलाफ अभियान छेड़े हुए थी। भदोही के गोपीगंज और चंदौली के अलीनगर इलाके में नेहा ने अपने साथियों के साथ मिलकर पशु तस्करों को पकड़ा था। रमना इलाके में भी पशु तस्करों को पकड़ने के लिए पहुंचीं थी। तभी उसका सामना हिंदू युवा वाहिनी से जुड़े बीएचयू के कुछ छात्रों से हो गया। बताया जा रहा है कि पशु तस्करों को गिरफ्तार कराने को लेकर दोनों गुट आपस में भिड़ गए। बातचीत के दौरान ही नेहा ने एक छात्र को थप्पड़ जड़ दिया, इसके बाद हंगामा शुरू हो गया। दूसरे गुट ने भी नेहा पर थप्पड़ों की बरसात शुरू कर दी। अब दोनों एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं।

पुलिस ने आरोपी छात्रा को किया गिरफ्तार

हाईवे पर हुई इस घटना को स्थानीय पुलिस ने गंभीरता से लिया है। पुलिस ने इस मामले में नेहा यादव और उसके पांच अन्य साथियों के खिलाफ लंका थाने में डकैती, बलवा, सरकारी काम में बाधा और अवरोध उत्पन्न करना जैसी संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इसके साथ ही पुलिस ने 21 पशु तस्करों के खिलाफ भी केस दर्ज किया है। हालांकि इस मामले में पुलिस मीडिया के सामने कुछ भी बोलने से कतरा रही है।

 

admin

No Comments

Leave a Comment