सीएए को लेकर पीएम ने स्पष्ट किया नजरिया, अब जाकर देश उलझाने के बदले सुलझाने की नीति पर

वाराणसी। पीएम मोदी रविवार को अपने संसदीय क्षेत्र से सटे चंदौली के इलाके में थे। मौका था जनसंघ के जमाने से पार्टी के नीति निर्धारक पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 63 फिट उंची पंचधातु की प्रतिमा के अनावरण के साथ लोकार्पण का। इस मौके पर उन्होंने नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) को लेकर अपने साथ पार्टी का विजन भी स्पष्ट कर दिया। पं डीडीयू की प्रतिमा के सामने पीएम मोदी ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 और सीएए के फैसले पर कायम थे, हैं और रहेंगे। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसने के क्रम में कहा कि 70 साल से पीछे छूटे फैसलों के बाबत अब देश निर्णय ले रहा है। आजादी के बाद जो समय बीता उसमें विवादित मुद्दों को सुलझाने की बजाय उलझाने की राजनीति होती रही।

प्रदर्शन को लेकर दिखे मुतमइन

शाहीन बाग (नई दिल्ली) समेत देश के दूसरे हिस्सों में सीएए के खिलाफ हो रहे लगातार प्रदर्शनों के बीच पूरे आत्मविश्वास के साथ पीएम मोदी ने एक बार फिर से दोहराया कि दबाव जो भी पड़े लेकिन इसके बावजूद उनकी सरकार इसको लेकर किये गये फैसले पर अडिग है। उन्होंने कहा कि चाहे अनुच्छेद जम्मू-कश्मीर के 370 पर लिया फैसला हो या फिर नागरिकता संशोधन कानून, यह देश हित में जरूरी था। हर दबाव के दबाव के बावजूद हम अपने फैसले के साथ खड़े हैं और इसके साथ बने रहेंगे।

Related posts