चुनावी परीक्षा में होने को ‘पास’ जिला प्रशासन ने किये हैं इंतजाम ‘खास’, एक हफ्ते पहले मिलेगी पर्ची और मोबाइल जमा की सुविधा भी

वाराणसी। लोकतंत्र में भागीदारी, हम सब की जिम्मेदारी के नारे संग जिला प्रशासन ने इस दफा वोटरों की सुविधा के लिए पर्याप्त इंतजाम किये हैं। इसके तहत बीएलओ की पर्ची जो कि एक सप्ताह पूर्व मतदाता को उसके द्वारा पहुंचायी जायेगी। यही नहीं इसके अलावा वोटर्स गाइड बीएलओ के द्वारा नि:शुल्क घर-घर पहुंचायी जायेगी जिसमें विभिन्न जानकारियां स्लोगन मतदाता बनने से लेकर मतदान करने तक रहेगी। जिला निर्वाचन अधिकारी डीएम सुरेन्द्र सिंह ने गुरुवार को स्वीप की बैठक में चेताया कि उंगली की अमिट स्याही गर्व का निशान है इसे मिटाना गलत सोच का परिचायक है जो एक अपराध भी है। जानकारी न होने पर यदि कोई बूथ पर अगर मोबाइल ले कर जाता है तो मतदाता का मोबाइल नेम स्लिप के साथ लगा कर कक्ष के बाहर बीएलओ के पास जमा हो जाएगा जिसे वह मतदान के बाद वापस ले सकेगा।

पर्ची ही नहीं ध्यान दे दूसरे विकल्प पर

विकास भवन सभागार में स्वीप की बैठक में विभिन्न सामाजिक,व्यापारियों व स्वयंसेवी संगठन के लोगों से डीएम ने कहा हमें जिम्मेदार नागरिक के रुप में मतदाता को मतदान का महत्व और जिम्मेदारी का एहसास कराना है। उन्होंने कहा कि मतदान करने के लिए इस बार चुनाव आयोग ने मतदाता पर्ची को पहचान पत्र नहीं माना है मतदाता पर्ची को केवल मतदान केन्द्र का नाम, भाग संख्या व क्रम संख्या जानने के लिए ही प्रयोग किया जा सकेगा। मतदाता पर्ची के साथ वोटर आईडी कार्ड ,आधार कार्ड, फोटो लगी बैक पासबुक,डी एल, नरेगा जाब कार्ड या सरकारी कर्मचारी पहचान पत्र आयोग द्वारा जारी 11 विकल्प फोटो पहचान पत्र में से कोई एक फोटो आईडी पहचान पत्र अवश्य लाना होगा। मतदाता की सुविधा के लिए मतदान केन्द्र के मुख्य द्वार पर मतदान केंद्र का नाम,बूथ संख्या लिखा गया है।

भीषण गर्मी में पानी से छाया तक का ध्यान

वोटिंग मई के तीसरे सप्ताह अंतिम चरण में होनी है जिस समय पारा चरम पर रहता है। इसे देखते हुए वृद्ध, गर्भवती महिलाओं छोटे बच्चों के लिए छायादार स्थानो पर बैठने और पीने के पानी एवं चयनित मॉडल बूथ पर सुविधाजनक तरीके से वोट डालने की व्यवस्था की जाएगी। मतदान कर्मियों तथा मतदाता के लिए अबकी बार अधिकतम सुविधाएं मुहैय्या करायी जा रही हैं। साथ ही मतदान के लिए लोगों को जागरूक करने और महिलाओं की अधिकतम सहभागिता सुनिश्चित करने पर स्वीप कार्यक्रम के माध्यम से विशेष जागरूकता कार्य किया जा रहा है। बैठक में सीडीओ/नोडल अधिकारी स्वीप ,अन्य अधिकारी एवं संस्थाओं के लोग उपस्थित रहे।

Related posts