मची खलबली: इस बाहुबली की भाजपा में हुई औपचारिक इंट्री, बदलेगा मंडल में राजनैतिक समीकरण

भदोही। पिछले विधानसभा चुनाव में भाजपा को प्रचंड बहुमत मिला था लेकिन सूबे की सिर्फ तीन ऐसी जीट रही जहां बगैर किसी का सहारा लिये बाहुबलियों ने अपना परचम लहराया था। इसमें चौंकाने वाला परिणाम ज्ञानपुर का रहा जहां से लगातार सपा के टिकट पर जीतने वाले विजय मिश्र ने बाकायदा अखिलेश यादव और मायावत को ललकारते हुए जीत हासिल की। चुनाव के बाद सदन से लेकर सड़क तक वह भाजपा के पक्षधर दिखे लेकिन औपचारिक रूप से सदस्यता नहीं ली थी। इस दिनों गुप्त नवरात्र में शतचंडी महायज्ञ कर रहे विधायक विजय मिश्र के एक ट्वीट से सियासी खलबली मच गयी है। इसका सिर्फ भदोही में ही असर नहीं होना है क्योंकि उनकी पत्नी रामलली मिश्रा मीरजापुर-सोनभद्र से एमएलसी हैं।

सदस्यता अभियान में आया बड़ा नाम

जनपद की दूसरी दोनों सीटों पर भाजपा के विधायक थे लेकिन ज्ञानपुर से जीत हासिल करने वाले विजय मिश्र ने लोकसभा चुनाव के अंतिम दौर में अधिकृत प्रत्याशी रमेश बिंद की साख बचाते हुए उनके खिलाफ ब्राह्मण विरोधी होने के अभियान की हवा निकाल दी थी। इसके बाद शीर्ष भाजपा नेताओं के संग मुलाकात होती थी लेकिन रविवार को विधायक की ट्वीट चौंकाने वाला था। ट्वीट में उन्होंने लिखा था कि पीएम मोदी के नेतृत्व वाली विश्व की सबसे बड़ी जनाधार वाली पार्टी भाजपा के सदस्यता अभियान के तहत सदस्यता ली। यह राष्ट्र निर्माण में एक छोटी भागेदारी सुनिश्चित करने जैसा है।

Related posts