वाराणसी। बनारस हिन्दू यूनिवर्सटी कांग्रेस की सियासत की नै प्रयोगशाला बनती जा रही है। इस बार कमान संभाली है कांग्रेस सेवा दल ने। दरअसल बनारस हिन्‍दू यूनिवर्सिटी को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी विपक्षी दलों के निशाने पर आ गये हैं। वाराणसी में कांग्रेस सेवा दल ने प्रधानमंत्री मोदी पर बीएचयू के बहाने हमला बोल दिया है। इसे लेकर शहर में जगह-जगह पोस्‍टर चिपकाये गये हैं। कांग्रेस सेवा दल के जिलाध्‍यक्ष हरीश मिश्रा की ओर से लगाये गये पोस्‍टर में प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी पर बीएचयू में ‘अयोग्‍य भारत’ का निर्माण करने का आरोप लगाया गया है।

अयोग्य प्रोफेसर की नियुक्ति का आरोप

पोस्‍टर में आरोप लगाया गया है कि बीएचयू में भाजपा और आरएसएस के इशारे पर अयोग्‍य प्रोफेसरों की नियुक्ति की गयी है। इसके अलावा भाजपा नीत एनडीए की सरकार पर यह आरोप भी लगाया गया है कि उनके शासनकाल में बीएचयू की छवि और गरिमा को पूरे विश्‍व में नीलाम और बेइज्‍जत करने की साजिश रची गयी है। पोस्‍टर में बुद्धीजीवियों से आह्वान किया गया है कि वह भाजपा और आरएसएस के ऐसे प्रयासों का विरोध करें। पोस्‍टर में आगे लिखा गया है कि 2015 से 2017 तक एक दो नहीं बल्‍कि 214 अयोग्‍य एवं अवैध प्रोफेसरों की नियुक्‍ति वाराणसी सांसद एवं प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के कार्यकाल में की गयी है।

admin

No Comments

Leave a Comment