वाराणसी। गरीबों के बच्चों को अंग्रेजी माध्यम वाले प्राइवेट विद्यालयों में पढ़ाने की खातिर शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) बना है। इसके तहत 25 फीसदी दाखिला गरीब बच्चों का होना चाहिये। बावजूद इसके हकीकत कुछ इतर है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल के सामने सोमवार को शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत निजी विद्यालयों में मात्र 682 गरीब बच्चों का दाखिला कराये जाने आंकड़ा रखा गया तो वह भड़क गये। इन आंकड़ों को हास्यास्पद बताते हुए शिक्षा विभाग के उदासीनता पर कमिश्नर ने गहरी नाराजगी जतायी। उन्होंने मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों में अनुमन्य सीटों के सापेंक्ष 25 फीसदी गरीब बच्चों का दाखिला पर जोर देते हुए इस वर्ष 5000 बच्चों का दाखिला सुनिश्चित कराये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया। कमिश्नर ने सहायक निदेशक बेसिक शिक्षा से पूछा कि शहर के प्रतिष्ठित निजी विद्यालयों में अधिनियम के तहत कितने गरीब बच्चों का दाखिला अब तक कराया गया? उन्होंने स्कूलवार इसकी सूचना तलब की है।

30 जून तक पूरी करें 14 निर्माणाधीन सड़कें

कमिश्नर ने सड़को के निर्माण कार्य को युद्वस्तर पर अभियान चलाकर पूरा कराये जाने पर जोर देते हुए वाराणसी के 14 निमार्णाधीन सड़को के निर्माण कार्य को 30 जून तक पूरा कराये जाने को पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता को निर्देशित किया। चन्दौली में के एई को गायब रहने की जानकारी पर डीएम के एनओसी के आधार पर मासिक वेतन भुगतान किये जाने हेतु विभागीय अभियंता को निर्देशित किया। चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर के निर्माण कार्य में अपेंक्षित तेजी लाये जाने पर जोर देते हुए अक्टूबर तक प्रत्येक दशा में पूरा कराये जाने का निर्देश दिया। इस फ्लाईओवर के निर्माण के दौरान 277 वीम में से 165 वीम का लांचित कार्य शेष होने तथा चालू यातायात के कारण कार्य में आ रही परेशानी की जानकारी पर रूट डाइवर्जन प्लान दो दिन के अन्दर तैयार कर उपलब्ध कराये जाने हेतु सेतु निगम के अभियन्ता को निर्देशित किया।

मॉक ड्रिल के खुलेगी स्वास्थ्य विभाग की पोल

सीएमओ द्वारा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो पर घायल व्यक्ति के इलाज का आवश्यक प्रबन्ध होने के साथ ही 24 घंटे डाक्टरो के उपस्थिति होने के दावे का सच जानने हेतु कमिश्नर ने डीएम को मॉकड्रिल कराये जाने का निर्देश दिया। उन्होने कहा रात को औचक तरीके से एम्बुलेंस भेजकर देखा जाय कि घायल व्यक्ति के इलाज की समुचित एवं तात्कालिक व्यवस्था है अथवा नही। उन्होने मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को जिला प्रशासन के साथ मिलकर अधिक दुर्घटना वाले मार्गो के आसपास के नजदीकी चिकित्सालयों को चिन्हित किये जाने का निर्देश दिया। बैठक में डीएम जौनपुर अरविन्द मलप्पा बंगारी, डीएम चन्दौली नवनीत सिंह चहल, संयुक्त विकास आयुक्त राजीव बनकटा, सीडीओ वाराणसी गौरांग राठी सहित जिलों के मुख्य विकास अधिकारी के अलावा विभागीय अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

admin

Comments are closed.