आजमगढ़। एक तरफ जहां देश के विभिन्न हिस्सों में दुष्कर्म को लेकर माहौल गरमाया है तेो वहीं मुलायम के संसदीय क्षेत्र में दिल दहलाने वाली वारदात हुई है। निजामाबाद थाना क्षेत्र के एक गांव में वर्ग विशेष के एक युवक ने घर में घुसकर दलित किशोरी के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। किशोरी के विरोध करने पर युवक ने उसके उपर केरोसिन डाल कर आग लगा दी। आग का गोला बनी पीड़िता जान बचाने के लिए भागने लगी जबकि फरिहां गांव निवासी आरोपित ने मोहम्मद सफी दीवार फांदकर भागने की कोशिश में पड़ोसी की मड़ई पर छलांग लगायी लेकिन गुहार सुनकर जुटे ग्रामीणों ने धर-दबोचने के संग पिटाई की। पीड़िता को आनन-फानन में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां दशा हालत गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने आरोपी दूसरे समुदाय के आरोपित को हिरासत में ले लिया है लेकिन मजिस्ट्रेटी बयान में आरोपों की पुष्टि होनेके बावजूद देर शाम तक रिपोर्ट नहीं दर्ज हो सकी थी।

घर पर अकेले थी पीड़िता

निजामाबाद के एक गांव की दलित किशोरी की मां लकवे की शिकार है। पीड़िता चार बहनों में छोटी है। मां बिस्तर पर ही रहती है जबकि पिता कबाड़ी का काम करते हैं। सोमवार शाम को किशोरी की बहनें कहीं बाहर गई थीं और पिता अपने काम पर गया था। मां बाहर चारपाई पर सोई थी। किशोरी दरवाजा भीतर से बंद कर अकेले थे। अचानक बचाओ-बचाओ की आवाज आसपास के लोग दौड़े और दरवाजा तोडकर भीतर घुसे। किशोरी आग का गोला बनी थी जबकि आरोपित भाग रहा था। पुलिस और मजिस्ट्रेट ने किशोरी का बयान दर्ज किया है जिसके मुताबिक मो. सफी उसके घर में घुस आया और दरवाजा बंद कर दिया। मोबाइल छीन कर सिम तोड़ दिया और दुष्कर्म का प्रयास किया। विरोध करने पर आग लगा दी। एसपी सिटी सुभाष चंद्र गंगवार के मुताबिक पुलिस पीड़िता के बयान पर कार्रवाई कर रही है। आरोपित को हिरासत में लिया गया है। ऐहतियातन गांव और जिला अस्पताल में भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई है।

admin

No Comments

Leave a Comment