आजमगढ़। राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी पर लगे बहू की हत्या के आरोप और उनके खिलाफ दर्ज मुकदमे की विवेचना में तेजी अने के साथ समर्थकों का पारा गर्म है। सोमवार की शाम नौशादनगर में पुलिस की पीआरवी पर जमकर पथराव करते हुए शीशे चकनाचूर कर दिये। हमलावरों के निशाने पर मौलाना रशादी के खिलाफ रपट दर्ज कराने वाले थे लेकिन उन्हें बचाने के फेर में पीआरवी आ गयी। इस मामले में कोतवाली थाने में मुकदमे दर्ज कराये जा रहे हैं। एसपी अजय साहनी ने स्वीकार किया एक मुकदमा पीड़ितों तथा दूसरा पीवीआर के पुलिसकर्मियों की तरफ से कराया जा रहा है।

कब्र से शव निकालने के बाद से थे भड़के

गौरतलब है कि डीएम के आदेश पर संदिग्ध हालात में मरी मृत विवाहिता फोजिया का शव एसडीएम सदर और पुलिस की मौजूदगी में शव को बाहर निकालकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया। संजरपुर गांव (सरायमीर) के रहने वाले हामिद संजरी ने ओलमा कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उनके परिवार के अन्य सदस्यो पर बहू की हत्या कर साक्ष्य छुपाते हुए शव को कब्र में दफन कर देने का आरोप लगाते हुए शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस विसरा जांच के लिए भेज रही है। एसपी ने स्वाकार किया कि मृतका के परिजनों ने कुछ फोटोग्राफ उपलब्ध कराये हैं जिसमें चोटों के निशान थे। इसे भी विवेचना में शामिल किया जायेगा।

admin

No Comments

Leave a Comment