बलिया। ताड़ीबड़ा (नगरा) स्थित स्वतंत्र श्री अनिरुद्ध महाविद्यालय पर शुक्रवार को सुबह की पाली में स्नातक प्रथम वर्ष के परीक्षार्थियों ने जमकर बवाल काटा। पहले तो ईट-पत्थर बरसाते हुए जमकर तोड़ फोड़ की इसके बाद अफिस पर धावा बोल दिया। आधे घण्टे तक विद्यालय पर अफरा तफरी का माहौल रहा। विद्यालय जहां नकल रोकने का कारण बताया, वही परीक्षार्थी सुबिधा शुल्क वसूली का कारण बता रहे है। सूचना पर पहुँची पुलिस को उग्र परीक्षार्थी भाग खड़े हुए। मौके से पुलिस ने दो लोगों को पकड़ा है। खास यह कि शम तक कालेज की तरफ से तहरीर देने में हीला-हवाली होती रही। एसओ नगरा का कहना था कि अभी तक विद्यालय की ओर से कोई लिखित तहरीर नहीं है।

भूगोल की परीक्षा खत्म होते ही बवाल

स्वतंत्र श्री अनिरुद्ध महाविद्यालय ताड़ी बड़ा गांव पर स्नातक प्रथम वर्ष की भूगोल द्वितीय प्रश्न पत्र की परीक्षा शुक्रवार को सुबह थी। परीक्षा का समय समाप्त होते ही परीक्षार्थियों और परीक्षा केंद्र पर मौजूद कक्ष निरीक्षक के बीच कमरा नम्बर 8 में किसी बात को लेकर कहा सुनी शुरू हो गई। कक्ष निरीक्षक द्वारा परीक्षार्थी पर हाथ छोड़ दिया गया तो परीक्षार्थी भी कक्ष निरीक्षक पर हाथ छोड़ दिया। इसके बाद अन्य परीक्षार्थी व विद्यालय के अन्य कक्ष निरीक्षक वहाँ पहुँच गए और उस परीक्षार्थी को पकड़ कर पीटना शुरू कर दिए जिससे परीक्षार्थी उग्र हो गए और परीक्षा केंद्र पर ईट पत्थर चलाने लगे। इससे भगदड़ की स्थिति पैदा हो गई। परीक्षार्थी ईट-पत्थर तक ही नहीं रुके बल्कि दफ्तर के खिड़की के शीशे,कुर्सी, मेज तथा गमले आदि को तोड़ दिए। दफ्तर में महिला कक्ष निरीक्षक किसी तरह ईट पत्थर से अपना बचाव की। यह सिलसिला आधे घण्टे से ऊपर तक जारी रहा। इस बीच किसी ने पुलिस को सूचना दे दी जिसके पहुंचने के बाद ही परीक्षार्थी परीक्षा केंद्र से हटे। पुलिस ने दो परीक्षार्थियों को पकड़ कर थाने ले आई।

छात्रों ने लगाया उगाही का आरोप

केंद्र व्यवस्थापक अनिता त्रिपाठी ने बताया कि भूगोल द्वितीय प्रश्न पत्र की परीक्षा चल रही थी और इसी बीच विश्वविद्यालय की तरफ से उड़न दस्ता आया था। इसने अनुचित साधन में एक परीक्षार्थी को पकड़ा था। उड़नदस्ते के जाने के बाद कमरा नम्बर आठ में कक्ष निरीक्षक ने एक परीक्षार्थी को नकल करने से रोका तो वह कक्ष निरीक्षक के साथ मारपीट करने पर उतारू हो गया। इसके बाद अन्य परीक्षार्थी भी कक्षा से बाहर आ गए और उग्र होकर तोड़ फोड़ करना शुरू कर दिए। दूसरी तरफ पुलिस ने जिस परीक्षार्थी अम्बरीष पाण्डेय निवाली नागेपुर (रसड़ा) को पकड़ा उसका आरोप है कि कापी बदलने के लिए दो हजार रुपए की मांग की गई थी। मैंने 1910 रुपया दे दिया लेकिन मेरी कापी नही बदली गई। दूसरे छात्र विकास कुमार सिंह निवासी कोदई नगरा का कहना था कि दो सौ रुपए की मांग की जा रही थी। नही देने पर विद्यालय से जुड़े लोग अभद्रता करने लगे।

admin

No Comments

Leave a Comment