चाहे जितने बदतर हो हालात लेकिन मुकाबले के लिए रहेगी स्पेशल क्यूआरटी तैयार, सीआरपीएफ से मिली है ट्रेनिंग

वाराणसी। पुलिस फोर्स अपराध पर नियंत्रण और अपराधियों की धर-पकड़ की खातिर ट्रेंड की जाती है लेकिन कई बार हालात बेकाबू होने के बाद स्पेशल फोर्स की प्रतीक्षा करनी होती है। प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी ने विपरीत हालात में पहला मोर्चा लेने की खातिर पुलिस को अलग से ट्रेनिंग दिलाने की पहल की है। इसके तहत वाराणसी पुलिस (स्पेशल क्यूआरटी) की एक विशेष टीम को सीआरपीएफ द्वारा, वैपन्स हैण्डलिंग कवर और फायरिंग, दंगा नियंत्रण ड्रिल, भीड़ नियंत्रण, भीड़ को संभालने के लिए फ्रिस्किंग और, वीआईपी/वीवीआईपी तथा मेला प्रबन्धन, आतंकवादी हमला से निपटने जैसे प्रशिक्षण दिए गए हैं। टीम का एक डेमो शनिवार को पुलिस लाईन ग्राउण्ड में एडीजी वाराणसी जोन पीवी रामा शास्त्री , डीएम सुरेन्द्र कुमार,एसएसपी आनंद कुलकर्णी कमांडेंट 95वीं बटालियन नरेंद्र की मौजूदगी में पुलिस लाईन में किया गया। इस दौरान लगभग 120 जवानों को इसकी ट्रेनिग दी गई ।

हर स्थिति ने निबटने के लिए हैं तैयार

इस मौके पर एडीजी ने कहा वाराणसी पुलिस को कड़ी मेहनत से जवानों को सीआरपीएफ द्वारा ट्रेनिंग दी गई है। इस ट्रेनिंग के बाद जवान हर परिस्थिति से निपटने को तैयार है। इन जवानों को वैपन्स हैण्डलिंग कवर और फायरिंग, दंगा नियंत्रण ड्रिल, भीड़ नियंत्रण, भीड़ को संभालने के लिए फ्रिस्किंग और, वीआईपी/वीवीआईपी तथा मेला प्रबन्धन, आतंकवादी हमला से निपटने जैसे प्रशिक्षण दिए गए हैं। जरूरत पड़ने पर इन जवानों को कहीं भी इस्तेमाल किया जा सकता है । एसएससी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि ट्रेनिंग के बाद जवान हर परिस्थिति से निपटने को तैयार है । इन जवानों को वैपन्स हैण्डलिंग कवर और फायरिंग, दंगा नियंत्रण ड्रिल, भीड़ नियंत्रण, भीड़ को संभालने के लिए फ्रिस्किंग और, वीआईपी/वीवीआईपी तथा मेला प्रबन्धन, आतंकवादी हमला से निपटने जैसे प्रशिक्षण दिए गए हैं।

सीआरपीएफ ने जिम्मेदारी बखूबी निभायी

सीआरपीएफ के 95 बटालियन के कमांडेंट नरेंद्र ने कहा कि लगभग 100 जवानों को सीआरपीएफ द्वारा ट्रेनिंग दी गई है। परिस्थिति चाहे जो भी हो हमारे जवान हर परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार है। इन जवानों को वेपन सेंटरिंग कवर और फायरिंग दंगा नियंत्रण भीड़ भीड़ नियंत्रण भीड़ को संभालने के लिए इस किंग और वीआईपी वीआईपी तथा मिला प्रबंधन आतंकवादी हमला से निपटने से प्रशिक्षण दिए गए हैं यह जवान पलक झपकते ही दुश्मन पर टूट पड़ेंगे इस तरह से इन जवानों को तैयार किया गया।

Related posts